S M L

कर चोरी करने वालों पर नजर रखने के लिए इनोवेटिव तरीके अपनाएगी सरकार

कुल मिलाकर 16 लेवल पर टैक्‍स चोरी करने वालों पर नजर रखी जा रही है

Updated On: Aug 03, 2017 05:25 PM IST

FP Staff

0
कर चोरी करने वालों पर नजर रखने के लिए इनोवेटिव तरीके अपनाएगी सरकार

कर चोरी करने वालों पर इनकम टैक्‍स विभाग अब इनोवेटिव तरीकों से शिकंजा कस रहा है. विभाग की नजर अब उनके क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, बैंक अकाउंट्स, ऑनलाइन ट्रांजैक्‍शन, टैक्‍स रिटर्न, ट्रेवल ट्रेंड, आवास के पते के साथ फोन रिकॉर्ड्स और सोशल मीडिया जैसी चीजों पर भी है.

कुल मिलाकर 16 लेवल पर टैक्‍स चोरी करने वालों पर नजर रखी जा रही है. इन सबके जरिए टैक्‍सपेयर्स की सोशल और फाइनेंशियल प्रोफाइलिंग की जा रही है, ताकि उन पर एक्‍शन लेने लायक मामला बन सके. इस पूरी प्रक्रिया में सबसे अधिक धावा बेनामी प्रॉपर्टी पर बोलने की तैयारी है.

नोटबंदी के बाद लाखों हैं जांच के घेरे में

एक्‍सपर्ट का मानना है कि नोटबंदी के बाद लाखों लोग जांच के घेरे में आ गए हैं. बड़ी मात्रा में कैश डिपॉजिट करने वालों के मामले में अधिक सख्‍ती बरती जा रही है. नोटबंदी के बाद ऐसे लोगों को पकड़ना आसान हो गया है. विभाग कैश जमा करने वालों, उनकी आय, निवेश और खर्चों के बीच संबंध स्‍थापित कर रहे हैं.

फॉर्मल इकनॉमी से मिल रही मदद

नोटबंदी के बाद इंफॉर्मल इकनॉमी का आकार छोटा और फॉर्मल इकनॉमी का आकर बड़ा होता जा रहा है. ऐसा डिजिटल ट्रांजैक्‍शन बढ़ने से हो रहा है, जिसकी वजह से डाटा एनालिटिक्‍स भी आसान हो गया है. सरकार का भी फोकस टैक्‍स: जीडीपी रेशियो बढ़ाने पर है, जो पूरे सिस्‍टम के लिए गेम चैंजर साबित हो सकता है.

(न्यूज 18 से साभार)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता
Firstpost Hindi