live
S M L

कौन बनेगा इंफोसिस का CEO: रेस में वेमुरी और श्रीनिवास आगे

इंफोसिस के मौजूदा सदस्य भी सीईओ पद की दौड़ में शामिल है. मोहित जोशी, रवि कुमार का नाम भी सीईओ के लिए उछल रहा है

Updated On: Aug 28, 2017 08:00 PM IST

FP Staff

0
कौन बनेगा इंफोसिस का CEO: रेस में वेमुरी और श्रीनिवास आगे

नंदन नीलेकणी की वापसी के बाद इंफोसिस के नए सीईओ की खोज तेज हो गई है. अशोक वेमुरी और बी. जी. श्रीनिवास इस दौड़ में सबसे आगे हैं. बी. जी. श्रीनिवास फिलहाल पीसीसीडब्ल्यू ग्रुप के एमडी हैं और अशोक वेमुरी फिलहाल जेराक्स के सीईएफओ-बीपीओ हैं.

कंपनी के लोग भी दौड़ में शामिल

इंफोसिस के मौजूदा सदस्य भी सीईओ पद की दौड़ में शामिल है. मोहित जोशी, रवि कुमार का नाम भी सीईओ के लिए उछल रहा है. रवि कुमार फिलहाल इंफोसिस के डिप्टी सीओओ हैं. सूत्रों के मुताबित अंतरिम सीईओ प्रवीण राव भी दौड़ में शामिल है.

नीलेकणी की एंट्री से 9 हजार करोड़ बढ़ा से इंफोसिस का मार्केट कैप

नंदन नीलेकणी को इंफोसिस का चेयरमैन बनाने के साथ ही कंपनी की किस्‍मत बदलने लगी है. नीलेकणि कंपनी के क्लाइंट और इनवेस्टर्स दोनों के लिए फिर आइकॉनिक शख्सियत बन कर उभरे हैं. 2002 और 2007 के बीच जब वे कंपनी के सीईओ थे, उस समय कंपनी ने निवेशकों को 36 फीसदी का रिटर्न दिया था. इसीलिए उनके समय को कंपनी के लिए गोल्‍डन पीरियड कहा जाता है.

निवेशकों में उत्‍साह

नीलेकणी के कंपनी के चेयरमैन बनने से निवेशकों में उत्‍साह है. कंपनी के मार्केट कैप में महज दो दिनों में लगभग 9 हजार करोड़ रुपए का इजाफा हो चुका है. जबकि विशाल सिक्‍का के इस्‍तीफा देने के बाद कंपनी के मार्केट कैप में 30 हजार करोड़ से अधिक की कमी आई थी.

इंफोसिस सबसे अधिक लाभ में

सोमवार को सेंसेक्स कंपनियों में देश की दूसरी सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर निर्यातक इंफोसिस सबसे लाभ में रही. यह 3.14 प्रतिशत मजबूत होकर 9,41.15 रुपए पर पहुंच गया. पूर्व सीईओ नंदन निलेकणी के कंपनी में वापस आने से निवेशकों ने इसे हाथों-हाथ लिया. कारोबारियों के अनुसार कारोबार के दौरान डॉलर के मुकाबले रुपए के मजबूत होकर 63.86 पर पहुंचने से भी धारणा को बल मिला.

(साभार न्यूज़ 18)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi