S M L

भारत में डोमिनोज से क्यों पिछड़ता जा रहा है मैकडॉनल्ड्स

भारत में फास्ट फूड का मार्केट तेजी से बढ़ रहा है लेकिन इसमें डोमिनोज से मैकडॉनल्ड्स पिछड़ता जा रहा है

Updated On: Mar 28, 2018 02:46 PM IST

FP Staff

0
भारत में डोमिनोज से क्यों पिछड़ता जा रहा है मैकडॉनल्ड्स

कुछ साल पहले तक भारत में मैकडॉनल्ड्स की डिमांड ज्यादा थी लेकिन अब बात पहले जैसी नहीं रही. कंपनी की हालत अब यहां खराब हो रही है. मैकडॉनल्ड्स यहां आलू टिक्की भी बेच रही है, फिर भी ग्राहकों को नहीं जोड़ पा रही है.

मैकडॉनल्ड्स के पिछड़ने का सबसे ज्यादा फायदा जुबलिएंट फूडवर्क्स की कंपनी डोमिनोज इंडिया को हुआ है. इंडिया में फास्ट फूड का बाजार तेजी से बढ़ रहा है. इस साल फास्ट फूड के बाजार में 5.8 फीसदी की तेजी आने की उम्मीद है. साल के अंत तक यह बाजार बढ़कर 21.2 खरब डॉलर तक पहुंच जाएगा. इस हिसाब से 2008 से अब तक बाजार में 50 फीसदी का इजाफा हो जाएगा.

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, भारत में बढ़ते फास्ट फूड मार्केट की अहम वजह यहां युवाओं की बढ़ती तादाद है. कंपनियों को इसका लाभ भी मिल रहा है. डोमिनोज और सब-वे के शेयर लगातार बढ़ रहे हैं और मैकडॉनल्ड्स की हालत खराब होती जा रही है.

मैकडॉनल्ड्स से क्यों बढ़ी दूरी

मैकडॉनल्ड्स की खराब होती हालत के पीछे मुख्य वजह है उसका विवादों में फंसे होना. कंपनी ने अपने साझेदार कनॉट प्लाजा के साथ अपने करार को समाप्त कर लिया था. पिछले साल अगस्त खत्म हुए करार के बाद कंपनी अपनी विस्तार नहीं कर पा रही है.

कनॉज प्लाजा के पास उत्तर और पूर्वी भारत में आउटलेट खोलने के अधिकार थे. करार खत्म होने के बाद भी कनॉट प्लाजा आउटलेट चलाता रहा. जिसके बाद मामला कानूनी पचड़े में अटक गया.

मैकडॉनल्ड्स के झगड़े का सबसे ज्यादा फायदा डोमिनोट पिज्जा बनाने वाली कंपनी जुबिलेंट फूडवर्क्स को मिल रहा है. यह कंपनी भारत में काफी तेजी से विस्तार कर रही है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi