S M L

Income Tax Return: आखिरी तारीख से पहले ऐसे भरें रिटर्न

इनकम टैक्स भरने से बचने के बजाय थोड़ा वक्त दीजिए और खुद अपना रिटर्न बिना किसी झंझट के भर लीजिए

Pratima Sharma Pratima Sharma Updated On: Jul 15, 2018 09:22 PM IST

0
Income Tax Return: आखिरी तारीख से पहले ऐसे भरें रिटर्न

इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने की आखिरी तारीख 31 जुलाई है. अगर आप वक्त रहते रिटर्न फाइल नहीं करते हैं तो आपको पेनाल्टी भी चुकानी होगी. कई लोग सिर्फ इसलिए अपना रिटर्न नहीं भर पाते क्योंकि उन्हें लगता है कि कोई सीए ही यह काम कर सकता है. लेकिन ऐसा नहीं है. कुछ बातों की जानकारी होने पर आप खुद अपना रिटर्न फाइल कर सकते हैं. यहां नीचे आपको एक गाइड की तरह बताया जा रहा है कि आप कैसे अपना रिटर्न भर सकते हैं.

कैसे करें शुरुआत 

ITR

ऑनलाइन इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने के लिए इस पेज पर क्लिक करें. अगर आपने पहले कभी आईटीआर नहीं भरा है तो सबसे पहले खुद को रजिस्टर करें. खुद को रजिस्टर करने के लिए पैनकार्ड की जरूरत है. यहां रजिस्ट्रेशन के दौरान बाकी सभी जानकारियों के साथ आप अपना पासवर्ड भी तय करते हैं.

ITR1रजिस्टर योर सेल्फ पर क्लिक करने के बाद एक पेज खुलेगा. इसमें नाम, पैनकार्ड, जन्मतिथि की जानकारी देने के बाद आपके मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी पर अलग-अलग पासवर्ड आएगा. यह पासवर्ड डालने के बाद आपका रजिस्ट्रेशन पूरा हो जाएगा.

लॉगइन करके शुरू करें काम 

ITR3

अब आप लॉगइन करने के लिए तैयार हैं. लॉगइन आईडी आपका पैनकार्ड नंबर होगा और पासवर्ड जो आपने रजिस्ट्रेशन के दौरान तय किया है वह होगा. लॉगइन करते हुए आप असेसमेंट ईयर में वही साल डालेंगे जिस साल में आईटीआर भर रहे होंगे. मसलन इस साल आईटीआर फाइल करने के लिए असेसमेंट ईयर 2018-19 होगा. अगर आपकी कमाई का जरिया सैलरी है तो आईटीआर-1 भरना होगा. उसके बाद प्रीपेयर एंड सबमिट करें. पेज को जब नीचे स्क्रोल करेंगे तो आधार ओटीपी का ऑप्शन होगा. आधार नंबर डालकर क्लिक करें. इससे आईटीआर रिटर्न को आधार से जोड़ने का काम भी पूरा हो जाएगा.

ITR4

आईटीआर फाइल करने की शुरुआत सबसे पहले जनरल इंफॉर्मेशन की साथ होती है. इसमें बर्थडे, एड्रेस, एंप्लॉयी कैटेगरी सहित कुछ दूसरी जानकारियां मुहैया करानी पड़ती है. इसके बाद दूसरे टैब पर क्लिक करें जो कंप्यूटेशन ऑफ इनकम एंड टैक्स है. इसमें आपको अपनी टैक्सेबल इनकम और निवेश की जानकारी देनी पड़ती है. इसी आधार पर यह कैलकुलेट होगा कि टैक्स कितना चुकाना होगा. इसके बाद टैक्स डिटेल का टैब क्लिक करें. इसमें आपको अपनी तरफ से कोई जानकारी नहीं देनी है. आपकी कंपनी ने जितना टैक्स काटा होगा वह यहां नजर आएगा. इसके बाद टैक्स पेड एवं वेरिफिकेशन के टैब पर क्लिक करें. इसमें आपको नजर आएगा कि कितना टैक्स चुकाना है और कितना रिफंड है. इसी पेज के नीचे की तरफ बैंक खातों और ब्याज की जानकारी देनी होगी. अगर ब्याज 10 हजार रुपए से कम है तो उस पर कोई टैक्स नहीं लगेगा. आखिरी टैब में 80G है. यह सेगमेंट छूट का है. जी हां, अगर आपने किसी प्रमाणित संस्था में दान दिया है तो आपकी उस रकम पर टैक्स नहीं देना होगा. पूरा फॉर्म भरने के बाद चेक करें और सबमिट करें.

ITR5

इस तरह आईटीआर सबमिट करने के बाद एक काम और बाकी है. वह है इसके वैरिफिकेशन का. माय एकाउंट के टैब पर क्लिक करे, फिर 'View e file return form' पर क्लिक करें. इसके बाद एक बॉक्स में दिए गए विकल्पों में से इनकम टैक्स रिटर्न सेलेक्ट करके क्लिक करे. आपके सामने रिटर्न वेरिफाइड का विकल्प आएगा. उस पर क्लिक करके आधार से वैरिफाइड करने का विकल्प चुनें. आपके मोबाइल पर आया कोड डालें और आपका रिटर्न का काम पूरा हुआ.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi