S M L

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट अब किराएदारों पर भी कसने लगा है शिकंजा

किराएदार मकान मालिक को प्रति माह 50 हजार रुपए से ज्यादा किराया दे रहे हैं तो यह पैसा टीडीएस काट कर मकान मालिक को दें

Updated On: Sep 08, 2017 09:29 PM IST

Ravishankar Singh Ravishankar Singh

0
इनकम टैक्स डिपार्टमेंट अब किराएदारों पर भी कसने लगा है शिकंजा

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने अब किराएदारों पर भी नकेल कसने की शुरुआत कर दी है. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने विज्ञापन जारी कर किराएदारों को अलर्ट किया है. इस विज्ञापन में कहा गया है कि अगर आप किराया देते हैं तो टीडीएस जरूर काटें.

इनकम टैक्स विभाग की वेबसाइट के अनुसार, अगर किराएदार मकान मालिक को प्रति माह 50 हजार रुपए से ज्यादा किराया दे रहे हैं तो पैसे ऐसे ही न दें. यह पैसा टीडीएस काट कर मकान मालिक को दें.

देश की मोदी सरकार कालेधन और टैक्स चोरी करने वालों पर लगातार शिकंजा कसती जा रही है. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने पहले घर मालिकों को टैक्स के नए नियम के अंतगर्त लाया और अब घर किराए पर लेने वाले लोगों को भी नए नियम में लाया जा रहा है.

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने अपने आधिकारिक वेबसाइट पर मकान मालिक को किराया देने और टीडीएस वसूलने को लेकर एक विज्ञापन जारी किया है. इस विज्ञापन में साफ लिखा है कि अगर विज्ञापन को अनदेखा किया गया तो इनकम टैक्स डिपार्टमेंट कार्रवाई कर सकता है.

इस साल के बजट में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मिडिल क्लास को टैक्स छूट की घोषणा करके वाहवाही तो लूटी थी, लेकिन कई ऐसे नए नियम बजट में लाए गए, जिन्हें नजरअंदाज करना टैक्सपेयर्स की मुसीबत बढ़ा सकता है.

पहला है घर किराए पर लेने पर टीडीएस का नया नियम और दूसरा है देरी से रिटर्न भरने पर भारी जुर्माना. इन नए नियमों से टैक्सपेयर्स की परेशानी बढ़ने की शुरुआत हो गई है.

दरअसल अब 50 हजार रुपए प्रति महीने या ज्यादा किराया देने पर टीडीएस काटना अनिवार्य कर दिया गया है. किराएदार के ऊपर टीडीएस काटने की जिम्मेदारी होगी. यह टीडीएस 5 फीसदी की दर से काटना होगा.

कानून में जोड़ा गया नया सेक्शन

इसके लिए इनकम टैक्स एक्ट में नया सेक्शन 194-आईबी जोड़ा गया है. साल में सिर्फ एक बार टीडीएस काटने की छूट होगी और किराएदार को टैन लेने की जरूरत नहीं होगी.

किराए में से काटे गए टीडीएस को किराएदार को इनकम टैक्स विभाग के पास जमा करना होगा. यह टीडीएस TIN-NSDL.COM पर जमा किया जा सकता है.

इस वेबसाइट पर आपको मकान मालिक के पैन नंबर की जानकारी देनी होगी और फार्म नंबर 26QC भरना होगा. इसमें सारी डिटेल्स भर कर आप टीडीएस जमा कर सकेंगे.

26QC फॉर्म भरने के बाद आपको TDSCPC.GOV.IN पर जाकर 16C फॉर्म को अपलोड करना होगा. यह फॉर्म भविष्य में आपके सर्टिफिकेट के तौर पर काम करेगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi