S M L

माल्या ने जारी किया बयान, कहा- मैं बैंक डिफॉल्टर का पोस्टर बॉय बन चुका हूं

विजय माल्या ने कहा कि मैंने पीएम मोदी और वित्त मंत्री को अपना पक्ष रखन के लिए पत्र भी लिखा था लेकिन दोनों में से किसी का जवाब नहीं आया

Updated On: Jun 26, 2018 03:56 PM IST

FP Staff

0
माल्या ने जारी किया बयान, कहा- मैं बैंक डिफॉल्टर का पोस्टर बॉय बन चुका हूं

भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या ने कहा है कि मैं बैंक डिफॉल्ट करने वालों की पहचान बन गया हूं और मेरा नाम आते ही लोगों का गुस्सा भड़क जाता है. लंबे समय के बाद अपनी चुप्पी तोड़ते हुए माल्या ने कहा कि अपनी बात रखन के लिए मैंने 25 अप्रैल 2016 को वित्त मंत्री अरुण जेटली और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खत लिख चुका हूं. माल्या ने अपने वक्तव्य में कहा कि उन्हें इस खत का कोई जवाब नहीं मिला.

माल्या ने कहा कि दो साल की चुप्पी के बाद मैंने तय किया है कि मीडिया के सामने एक व्यापक प्रेस स्टेटमेंट जारी करूं. माल्या ने अपने ट्वीट में अपनी सारी बातों को रखने की कोशिश की है.

विजय माल्या ने कहा कि सारे लोन उचित स्तर पर और प्रत्येक बैंक के उचित विभागों द्वारा विधिवत तौर पर दिए गए थे. अंत में सभी लोन को आरबीआई से अनुमति मिलने के बाद दिसंबर 2010 में मास्टर डेबिट रिकॉस्ट समझौते के द्वारा मिला था.

माल्या ने अपने प्रेस स्टेटमेंट में कहा कि एसबीआई के नेतृत्व में 17 बैंकों ने किंगफिशर एयरलाइंस को लगभग 5500 करोड़ के लोन दिए. संपत्तियों को बेच कर 600 करोड़ रुपए से अधिक की वसूली की जा चुकी है और 1280 करोड़ रुपए कर्नाटक हाईकोर्ट में जमा भी कराए गए हैं.

उन्होंने आगे कहा कि राजनेताओं और मीडिया ने आरोप लगाया है कि किंगफिशर एयरलाइंस को दिए गए 9,000 करोड़ रुपए के लोन को मैं चोरी कर के भाग गया हूं. उन्होंने कहा कि कुछ बैंकों ने मुझे विलफुल डिफॉल्टर होने का लेबल भी लगा दिया है.

माल्या ने कहा कि यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि मुख्य राशि लगभद 5500 करोड़ रुपए हैं (यह राशि संपत्तियों को बेचने और तमाम तरह की वसूली की गई राशि से भी कम है.) लेकिन मीडिया में गलत राशि का दिखाया जा रहा है.

वर्तमान में यूके से भारत में प्रत्यर्पण के खिलाफ केस लड़ रहे माल्या ने यह भी कहा कि सीबीआई और ईडी ने मेरे खिलाफ चार्जशीट दायर की है. उन्होंने कहा कि मेरे खिलाफ चार्जशीट में सरकार और बैंकों की तरफ से कई झूठे आपोप लगाए गए हैं.

माल्या ने अपने वक्तव्य में कहा है कि मैं सम्मानपूर्वक कहता हूं कि मैंने सार्वजनिक बैंकों के साथ मामले को निपटाने के लिए अच्छे विश्वास के साथ हर संभव प्रयास किया है और इसे जारी भी रखा हूं. उन्होंने कहा कि यदि राजनीतिक रूप से प्रेरित होकर बाहरी चीजों का हस्तक्षेप होता है तो ऐसा कुछ भी नहीं है जो मैं कर सकता हूं.

उन्होंने कहा कि ईडी ने मुझसे, मेरे समूह और मेरे परिवार के स्वामित्व में आने वाली संपत्तियों को भी मनी लॉन्ड्रिंग प्रिवेंशन एक्ट (पीएमएलए) के तहत जब्त किया है, वर्तमान में उनकी कीमत लगभग 13900 करोड़ रुपए हैं. उन्होंने अंत में कहा कि मैं बैंक डिफॉल्ट का पोस्टर बॉय बन चुका हूं और जनता के गुस्से का शिकार भी हो गया हूं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi