S M L

त्योहार के मौसम में जीएसटी संग्रह एक लाख करोड़ रुपए के पार जाने की उम्मीद

त्योहार के मौसम की मांग और सरकार के टैक्स चोरी रोकने के उपायों से जीएसटी संग्रह बढ़ने की उम्मीद की जा रही है

Updated On: Oct 02, 2018 08:20 PM IST

Bhasha

0
त्योहार के मौसम में जीएसटी संग्रह एक लाख करोड़ रुपए के पार जाने की उम्मीद

वित्त मंत्रालय को उम्मीद है कि नवंबर और दिसंबर महीने में जीएसटी संग्रह एक लाख करोड़ रुपए के आंकड़े को पार कर जाएगा. त्योहार के मौसम की मांग और सरकार के टैक्स चोरी रोकने के उपायों से जीएसटी संग्रह बढ़ने की उम्मीद की जा रही है.

सितंबर महीने में जीएसटी राजस्व बढ़कर 94,442 करोड़ रुपए पर पहुंच गया था. अधिकारियों का कहना है कि त्योहार के मौसम में मांग बढ़ने से यह आंकड़ा एक लाख करोड़ रुपए को पार कर सकता है. एक अधिकारी ने कहा, ‘मौजूदा रुख को देखते हुए उम्मीद है कि जीएसटी का मासिक संग्रह का आंकड़ा नवंबर और दिसंबर के दौरान एक लाख करोड़ रुपए पर पहुंच जाएगा.

नवंबर और दिसंबर के जीएसटी संग्रह के आंकड़ों में अक्टूबर और नवंबर में की गई खरीद बिक्री के आंकड़े दिखेंगे. अधिकारी के अनुसार आमतौर पर लोग गणेश चतुर्थी तक अपनी खरीद टालते हैं. इससे त्योहार के मौसम की शुरुआत होती है. इसके अलावा राजस्व विभाग के टैक्स चोरी रोकने के उपायों से राजस्व बढ़ाने में मदद मिलेगी.

बिक्री बढ़ने से सरकार को मिलेगा ज्यादा राजस्व

लक्ष्मीकुमारन एंड श्रीधरन के भागीदार एल बद्री नारायण ने कहा, ‘त्योहार के सीजन की मांग से जीएसटी संग्रह एक लाख करोड़ रुपए को पार कर जाएगा. यह वह समय होता है जबकि लोग खरीदारी करते हैं और कंपनियां छूट और अन्य पेशकशें देती हैं. हमें उम्मीद है कि बिक्री बढ़ने से सरकार को ज्यादा राजस्व मिलेगा.’

एएमआरजी एण्ड एसोसियेटस पार्टनर रजत मोहन ने भी कहा कि त्योहारों और शादी-ब्याह का समय शुरू होने से कुल मिलाकर मांग बढ़ेगी और जीएसटी संग्रह बढ़ेगा. वित्त मंत्रालय के अधिकारियों ने हालांकि त्योहारी मौसम निकलने के बाद राजस्व में कमी की आशंका जताई है. उनके मुताबिक वित्त वर्ष की अंतिम तिमाही में खरीद- बिक्री सुस्त पड़ जाती है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi