S M L

आठ प्रमुख बुनियादी उद्योगों की वृद्धि दर सितंबर में चार महीने के न्यूनतम स्तर पर

इस समीक्षा के तहत बुनियादी उद्योगों में कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्पाद, उर्वरक, इस्पात, सीमेंट और बिजली जैसे उत्पादनों को रखा गया है

Updated On: Oct 31, 2018 09:48 PM IST

Bhasha

0
आठ प्रमुख बुनियादी उद्योगों की वृद्धि दर सितंबर में चार महीने के न्यूनतम स्तर पर

कच्चे तेल और प्राकृतिक गैस के उत्पादन में गिरावट के चलते बुनियादी क्षेत्र के आठ प्रमुख उद्योगों की वृद्धि दर सितंबर में गिर कर 4.3 प्रतिशत रह गई थी. यह पिछले चार महीने का सबसे न्यूनतम स्तर है. इससे पहले साल 2018 के मई महीने में यह आंकड़ा 4.1 प्रतिशत पर था. जबकि एक साल पहले इसी माह में इन उद्योगों की वृद्धि 4.7 प्रतिशत रही थी.

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, समीक्षा की इस अवधि में कच्चे तेल का उत्पादन 4.2 फीसदी और प्राकृतिक गैस का उत्पादन 1.8 प्रतिशत घटा है. इसी के साथ सितंबर महीने में उवर्रक में 2.5 फीसदी, सीमेंट में 11.8 फीसदी और बिजली उत्पादन में 8.2 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी.

इस समीक्षा के तहत बुनियादी उद्योगों में कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्पाद, उर्वरक, इस्पात, सीमेंट और बिजली जैसे उत्पादनों को रखा गया है. हालांकि, कोयला की वृद्धि दर घट कर 6.4 प्रतिशत रही, तो रिफाइनरी उत्पाद की वृद्धि दर घट कर 2.5 प्रतिशत हो गई और इस्पात क्षेत्रों की वृद्धि दर घट कर 6.4 प्रतिशत रह गई थी.

अप्रैल-सितंबर 2018 की छह महीने की अवधि के दौरान आठ प्रमुख उद्योगों की औसत वृद्धि दर बढ़कर 5.5 प्रतिशत हो गई. एक साल पहले की इस अवधि में यह आंकड़ा 3.2 प्रतिशत था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi