S M L

बजट सत्र में तीन तलाक विधेयक पारित करने पर जोर देगी सरकार

बजट सत्र का पहला चरण नौ फरवरी को पूरा हो जाएगा. दूसरा चरण पांच मार्च से छह अप्रैल के बीच होगा

Updated On: Jan 28, 2018 04:27 PM IST

Bhasha

0
बजट सत्र में तीन तलाक विधेयक पारित करने पर जोर देगी सरकार

सरकार सोमवार से शुरू हो रहे संसद के बजट सत्र में तीन तलाक विरोधी विधेयक को पारित कराने की पुरजोर कोशिश करेगी, हालांकि विपक्ष से उसे कड़े विरोध का सामना करना पड़ सकता है.

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण के साथ इस सत्र की शुरुआत होगी. कोविंद के अभिभाषण के बाद दोनों सदनों में आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट पेश की जाएगी.

वित्त मंत्री अरूण जेटली एक फरवरी को बीजेपी नीत NDA सरकार का इस कार्यकाल का आखिरी पूर्ण बजट पेश करेंगे.

बजट सत्र का पहला चरण नौ फरवरी को पूरा हो जाएगा. दूसरा चरण पांच मार्च से छह अप्रैल के बीच होगा. इस बार के बजट में मजबूत रानीतिक संदेश हो सकता है क्योंकि 2019 में लोकसभा चुनाव होने वाला है. इस बजट में किसानों और गरीबों पर मुख्य रूप से ध्यान दिया जा सकता है.

बजट से जुड़ी प्राथमिकताओं के अलावा सरकार कुछ महत्वपूर्ण विधेयकों को पारित कराने पर जोर दे सकती है.

तीन तलाक संबंधी कानून के अलावा सरकार ओबीसी आयोग को संवैधानिक दर्जा देने वाले विधेयक को पारित कराने की कोशिश करेगी. ये दोनों विधेयक राजनीतिक रूप से महत्वपूर्ण हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi