S M L

सेरिडॉन सहित 328 जेनरिक दवाओं पर रोक लगाने की तैयारी में सरकार

स्वास्थ्य मंत्रालय के इस फैसले से सन फार्मा, सिप्ला, वॉकहार्ट और फाइजर जौसी कई कंपनियों को झटका लगा है

Updated On: Sep 12, 2018 02:15 PM IST

FP Staff

0
सेरिडॉन सहित 328 जेनरिक दवाओं पर रोक लगाने की तैयारी में सरकार

आमतौर पर सिरदर्द, सर्दी और बुखार जैसी बीमारियों के लिए इस्तेमाल होने वाली सेरिडॉन, जिंटैप जैसी 328  जेनेरिक दवाएं बैन हो सकती हैं. जानकारी के मुताबिक स्वास्थ्य मंत्रालय ने इन दवाओं को बैन करने का फैसला ले लिया है. स्वास्थ्य मंत्रालय के इस फैसले से सन फार्मा, सिप्ला, वॉकहार्ट और फाइजर जैसी कई कंपनियों को झटका लगा है. देशभर में इन दवाइयों के करीब 6 हजार ब्रांड हैं.

ईटी के मुताबिक, हेल्थ मिनिस्ट्री ने 328 दवाओं पर पाबंदी लगाने का फैसला किया है. सरकार की तरफ से करीब एक महीना पहले ही एडवाइजरी जारी की गई थी. दवा बनाने वाली और वितरण कंपनियों को यह छह तरह के कॉम्बिनेशन वाली दवाओं की बिक्री पर रोक लगा दी है.

क्या होगा बैन का असर?

इस बैन से भारत की फार्मा इंडस्ट्री से 1500 करोड़ रुपए की दवाएं निकल जाएंगी. कुल फार्मा इंडस्ट्री 1.18 लाख करोड़ रुपए का है. हालांकि सरकार की यह पाबंदी डीकोल्ड टोटल और फेनसीडाइल जैसे कफ सीरप पर लागू नहीं होगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi