S M L

पेंशन होगी डबल, सरकार दे सकती है बड़ा तोहफा

हालांकि इससे सरकार पर सालाना तीन हजार करोड़ रुपए का बोझ बढ़ेगा. इस पर अंतिम फैसला अगले साल होने वाले चुनाव से पहले लिया जा सकता है

Updated On: Mar 18, 2018 04:02 PM IST

FP Staff

0
पेंशन होगी डबल, सरकार दे सकती है बड़ा तोहफा

सरकार की तरफ से पेंशनधारकों को बड़ा तोहफा मिल सकता है. मोदी सरकार पेंशन को दोगुना करने की प्लानिंग कर रही है. एंप्लॉयी पेंशन स्कीम में इस बड़े बदलाव का ऐलान मोदी सरकार जल्द ही कर सकती है. बताया जा रहा है कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के तहत ईपीएस सब्सक्राइबर्स के लिए मासिक पेंशन को दोगुना करके 2,000 रुपए किया जा सकता है. इससे करीब 40 लाख सब्सक्राइबर्स को फायदा होगा. हालांकि इससे  सरकार पर सालाना तीन हजार करोड़ रुपए का बोझ बढ़ेगा. इस पर अंतिम फैसला अगले साल होने वाले चुनाव से पहले लिया जा सकता है.

सरकार का बोझ होगा दोगुना

कैबिनेट ने 2014 में एक साल के लिए 1,000 रुपए मासिक की न्यूनतम पेंशन को मंजूरी दी थी और 2015 में इसे अनिश्चितकाल के लिए बढ़ा दिया गया था. न्यूनतम पेंशन के लिए सरकार सालाना 813 करोड़ रुपए का योगदान देती है. अगर इसका फायदा अभी 2,000 रुपए मंथली से कम पेंशन पाने वाले सभी लोगों को दिया गया तो सरकार का बोझ भी बढ़कर दोगुने से अधिक हो सकता है.

ईपीएफओ कर रहा है योजना पर काम

एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने बताया कि श्रम मंत्रालय ने ईपीएफओ से इस योजना के वित्तीय पहलुओं पर काम करने को कहा है. उसने ईपीएफओ से यह भी पूछा है कि अगर एंप्लॉयी पेंशन स्कीम (ईपीएस), 1995 के तहत न्यूनतम पेंशन को 1,000 रुपए से बढ़ाकर 2,000 रुपए मंथली किया जाता है तो ऐसे सब्सक्राइबर्स की संख्या कितनी रहेगी.

बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज के सामने रखा जाएगा प्रस्ताव

ईपीएफओ के एक अधिकारी के मुताबिक, ‘ईपीएफओ जल्द ही ये जानकारियां दे सकता है. इसके बाद सरकार ईपीएफओ के सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज के सामने न्यूनतम पेंशन को दोगुना करने का प्रस्ताव पेश करेगा.

9000 करोड़ का भुगतान करती है सरकार

ईपीएफ-95 स्कीम के तहत अभी 60 लाख पेंशनर्स हैं. इनमें से 40 लाख को 1,500 रुपए मंथली से कम पेंशन मिल रही है. इनमें से 18 लाख को न्यूनतम 1,000 रुपए की पेंशन योजना का फायदा मिल रहा है. सरकार के पास 3 लाख करोड़ का पेंशन फंड है और ईपीएस के तहत वह सालाना 9,000 करोड़ रुपए का भुगतान करती है.

मासिक पेंशन बढ़ाने का दबाव

सरकार पर ट्रेड यूनियंस और ऑल इंडिया ईपीएस-95 पेंशनर्स संघर्ष समिति की तरफ से मासिक पेंशन को बढ़ाकर 3,000 से 7,500 रुपए करने का दबाव है. हाल ही में संसदीय समिति ने भी सरकार से ईपीएस-95 स्कीम की समीक्षा करने को कहा था. समिति ने कहा था कि केंद्र को 1,000 रुपए की न्यूनतम पेंशन पर विचार करना चाहिए. श्रम पर संसद की स्थाई समिति की 34वीं रिपोर्ट सदन में पेश की गई थी. समिति का मानना है कि 1000 रुपए की पेंशन बहुत कम है और इससे पेंशनर्स की हर महीने की बुनियादी जरूरतें भी पूरी नहीं होती हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi