S M L

2018 की दूसरी छमाही में GDP के घटकर 7.2% रहने की उम्मीद: रिपोर्ट

नोमूरा की एक रिपोर्ट में यह अनुमान लगाया गया है कि भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर अपने उच्चस्तर पर पहुंच चुकी है और इस साल की दूसरी छमाही में यह नीचे आएगी

Bhasha Updated On: Jul 31, 2018 04:09 PM IST

0
2018 की दूसरी छमाही में GDP के घटकर 7.2% रहने की उम्मीद: रिपोर्ट

भारतीय अर्थव्यवस्था बेशक अप्रैल-जून की तिमाही में मजबूत आर्थिक वृद्धि दर दर्ज करेगी, लेकिन आगामी महीनों में यह रफ्तार सुस्त पड़ सकती है. नोमूरा की एक रिपोर्ट में यह अनुमान लगाया गया है.

वैश्विक वित्तीय सेवा क्षेत्र की कंपनी ने एक रिसर्च नोट में कहा है कि भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर अपने उच्चस्तर पर पहुंच चुकी है और इस साल की दूसरी छमाही में यह नीचे आएगी.

जनवरी-मार्च की तिमाही में भारत की सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर 7.7 प्रतिशत रही थी जो सात तिमाहियों का सबसे ऊंचा स्तर है. मैन्युफैक्चरिंग और सर्विस सेक्टर के बेहतर प्रदर्शन और कृषि क्षेत्र का उत्पादन अच्छा रहने से भारतीय अर्थव्यवस्था तेज रफ्तार से बढ़ी है.

रिपोर्ट में कहा गया है कि सख्त वित्तीय स्थिति, वैश्विक वृद्धि में सुस्ती और व्यापार की प्रतिकूल शर्तों से 2018 की दूसरी छमाही में वृद्धि दर नीचे आएगी.

नोमूरा का अनुमान है कि अप्रैल जून तिमाही में जीडीपी की वृद्धि दर उच्चस्तर पर रहेगी और उसके बाद यह दूसरी छमाही में घटकर 7.2 प्रतिशत रह जाएगी. पहली छमाही में यह करीब 7.8 प्रतिशत के स्तर पर रहेगी.

भारतीय रिजर्व बैंक के मौद्रिक रुख पर रिपोर्ट में कहा गया है कि मौजूदा मैक्रो इकोनॉमिक स्थितियों के मद्देनजर केंद्रीय बैंक आगामी एक अगस्त को मॉनिटरी पॉलिसी रिव्यू में पॉलिसी रेट में 0.25 प्रतिशत (25 बेसिस प्वाइंट) की वृद्धि कर सकता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi