S M L

भारतीय स्मार्टफोन बाजार में चार चीनी कंपनियों का कब्जा

चीनी कंपनियों की पकड़ का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पिछली तिमाही में शियोमी ने 40 लाख रेडमी नोट 4 फोन बेचे. ये देश में सबसे अधिक बिकने वाला फोन है

Bhasha Updated On: Nov 19, 2017 01:13 PM IST

0
भारतीय स्मार्टफोन बाजार में चार चीनी कंपनियों का कब्जा

भारत के स्मार्टफोन बाजार में चीन की मोबाइल कंपनियों का दबदबा कायम है. दोनों देशों के बीच जारी राजनीतिक व कूटनीतिक खींचतान से इतर भारत में सबसे अधिक बिकने वाले पांच स्मार्टफोन ब्रांड में से चार चीन के हैं.

इस साल जुलाई-सितंबर की तिमाही में भारत में कुल मिलाकर 3.9 करोड़ स्मार्टफोन बिके. शोध फर्म इंटरनेशनल डेटा कॉरपोरेशन (IDC) के आंकड़ों के अनुसार इस दौरान भारत में बिके कुल स्मार्टफोन में से लगभग 75 प्रतिशत हिस्सा शीर्ष पांच कंपनियों का रहा.

इसमें अगर सैमसंग को छोड़ दें तो बाकी चारों ब्रांड -शियोमी, लेनोवो, वीवो व ओप्पो- चीन के हैं. बाजार भागीदारी के लिहाज से शियोमी व सैमसंग पहले स्थान (23.5 प्रतिशत प्रत्येक) पर हैं. उसके बाद लेनोवो की नौ प्रतिशत, वीवो की 8.5 प्रतिशत व ओपो की 7.9 प्रतिशत भागीदारी है.

प्रतिस्पर्धी कीमतें और आक्रामक रणनीति हैं कारण 

प्रतिस्पर्धी कीमतें और आक्रामक बिक्री रणनीति के चलते चीनी कंपनियों ने दुनिया के इस सबसे तेजी से बढ़ते स्मार्टफोन बाजार पर कब्जा किया है. विशेषज्ञों के अनुसार यह दबदबा आगे भी बने रहने की उम्मीद है.

विशेषज्ञों के अनुसार चीनी कंपनियों की साख व पकड़ का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पिछली तिमाही में शियोमी ने 40 लाख रेडमी नोट 4 फोन बेचे. ये देश में सबसे अधिक बिकने वाला फोन है.

आईडीसी इंडिया के मुख्य विश्लेषक जयपाल सिंह ने कहा कि ये कंपनियां वैश्विक स्तर की योजना के साथ बाजार को अपने कब्जे में करने की कोशिश करती हैं. डिजाइन व उत्पादन के लिहाज से भारत सहित अन्य देशों की कंपनियां उनके मुकाबले दूर दूर तक नहीं दिखतीं.

साल के अंत तक बिक जाएंगे 26.2 करोड़ मोबाइल 

भारत दुनिया के सबसे बड़े मोबाइल फोन बाजारों में से एक है. यहां मोबाइल फोनों की बिक्री इस साल के आखिर तक बढ़कर 26.2 करोड़ होने की संभावना है. इसमें 14.16 करोड़ फीचर फोन व लगभग 12 करोड़ स्मार्टफोन होंगे.

सिंह के अनुसार चीन की कई और कंपनियां भी भारतीय स्मार्टफोन बाजार में अपनी पकड़ को मजबूत बनाने का प्रयास कर रही हैं. इनमें वनप्लस व जियोनी भी है.

हाल ही में एम7 पावर स्मार्टफोन पेश करने वाली जियोनी इंडिया के निदेशक डेविड चांग ने कहा, ‘भारत हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण बाजार है. हम मार्च 2018 तक शीर्ष पांच कंपनियों में आना चाहते हैं. कंपनी इसके लिए नए फोन लाएगी व अपने नेटवर्क का विस्तार करेगी.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi