विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

फॉर्चून ग्लोबल 500 की लिस्ट में एशिया का दबदबा, वॉलमार्ट नंबर 1

भारत की 7 कंपनियां फॉर्चून ग्लोबल 500 में हैं

FP Staff Updated On: Jul 22, 2017 12:51 PM IST

0
फॉर्चून ग्लोबल 500 की लिस्ट में एशिया का दबदबा, वॉलमार्ट नंबर 1

कंपनियों को पिछले साल के रेवन्यू के आधार पर रैकिंग देने वाले फॉर्चून ग्लोबल 500 की लिस्ट में इस बार एशियाई कंपनियों का कब्जा है. इस लिस्ट में 40 फीसदी एशियाई कंपनियां हैं. एशिया से इस लिस्ट में 197 कंपनियां हैं. एशिया ने उत्तर अमेरिका (145) और यूरोप (143) को पीछे छोड़ दिया है.

अगर बाकी दुनिया की बात करें तो वहां से सिर्फ 15 कंपनियां ही इस लिस्ट में जगह बना पाई हैं. रिटेल कंपनी वॉलमार्ट इस लिस्ट में पहले नंबर पर है. अगले तीन पोजिशन्स पर चीनी कंपनियों- स्टेट ग्रिड, चाइना पेट्रोलियम और सिनोपेक का कब्जा है.

चीन से मिल रही है अमेरिका को कड़ी टक्कर

अगर देशों की बात करें तो अमेरिका अभी भी सबसे ज्यादा कंपनियों के साथ पहले नंबर पर है. यूएस की 132 कंपनियों ने इस लिस्ट में जगह बनाई है वहीं चीन 109 कंपनियों के साथ जल्द ही अमेरिका को टक्कर देने को तैयार है. 51 कंपनियों के साथ एशियाई देश जापान तीसरे नंबर पर है. अन्य एशियाई देशों की बात करें तो जापान के बाद दक्षिण कोरिया की 15 कंपनियां इस लिस्ट में हैं और भारत की 7 कंपनियां फॉर्चून ग्लोबल 500 में हैं.

भारत की 7 कंपनियों में से केवल एक कंपनी इंडियन ऑयल ही टॉप 200 में जगह बना पाई है. फॉर्चून ग्लोबल 500 में अन्य भारतीय कंपनियां हैं- रिलायंस इंडस्ट्रीज (215), टाटा मोटर्स (226), स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (232), भारत पेट्रोलियम (358) और हिंदुस्तान पेट्रोलियम (367) और राजेश एक्सपोर्ट्स (423).

फॉर्चून ग्लोबल 500 लिस्ट में भले ही चीन का दबदबा सरकार के स्वामित्व वाली कंपनियों के कारण है लेकिन अब चीन की प्राइवेट कंपनियां भी इस लिस्ट में जगह बना पाने में कामयाब हो रही हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi