S M L

अक्टूबर में 17.86 फीसदी बढ़कर 26.98 अरब डॉलर पर पहुंचा एक्सपोर्ट, घाटा भी बढ़ा

विश्लेषणों के अनुसार तुलनात्मक आधार के प्रभाव में एक्सपोर्ट वृद्धि अच्छी दिखने लगी है क्योंकि पिछले साल इसी महीने एक्सपोर्ट काफी कम हुआ था

Updated On: Nov 15, 2018 10:31 PM IST

Bhasha

0
अक्टूबर में 17.86 फीसदी बढ़कर 26.98 अरब डॉलर पर पहुंचा एक्सपोर्ट, घाटा भी बढ़ा

देश का एक्सपोर्ट इस बार अक्टूबर महीने में एक साल पहले, इसी महीने की तुलना में 17.86 प्रतिशत बढ़कर 26.98 अरब डॉलर के बराबर रहा. वाणिज्य मंत्रालय के गुरुवार को जारी आंकड़ों के अनुसार इस बार अक्टूबर में इम्पोर्ट भी 17.62 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 44.11 अरब डॉलर रहा. एक्सटिंट महीने के दौरान व्यापार घाटा बढ़कर 17.13 अरब डॉलर रहा.

विश्लेषणों के अनुसार तुलनात्मक आधार के प्रभाव में एक्सपोर्ट वृद्धि अच्छी दिखने लगी है क्योंकि पिछले साल इसी महीने एक्सपोर्ट काफी कम हुआ था. हालांकि, अक्टूबर में सोने का इम्पोर्ट 42.9 प्रतिशत घटकर 1.68 अरब डॉलर रह गया है. इसके बावजूद भी व्यापार घाटे में बढ़ोतरी हुई है.

अक्टूबर, 2017 में व्यापार घाटा 14.61 अरब डॉलर था. एक्सपोर्ट करने वालों का कहना है कि अक्टूबर में एक्सपोर्ट में करीब 18 प्रतिशत की वृद्धि की वजह तुलना के लिए एक पहले के आधार का प्रभाव है. अक्टूबर, 2017 में एक्सपोर्ट 22.89 अरब डॉलर के स्तर का ही था.

एक्सपोर्ट करने वालों के संगठन फेडरेशन ऑफ इंडिया एक्सपोर्ट आर्गेनाइजेशन (फियो) ने कहा कि अक्टूबर का एक्सपोर्ट का आंकड़ा सितंबर से कम है. लेकिन तुलनात्मक आधार के असर से वृद्धि तेज दिख रही है.

इसी तरह की राय जताते हुए भारतीय इंजीनियरिंग एक्सपोर्ट संवर्द्धन परिषद (ईईपीसी) ने कहा कि अक्टूबर में एक्सपोर्ट में ऊंची वृद्धि अनुकूल आधार प्रभाव की वजह से दर्ज हुई है. फियो के अध्यक्ष गणेश गुप्ता ने क्षेत्र के लिए ऋण का प्रवाह बढ़ाने की मांग की.

अक्टूबर में पेट्रोलियम एक्सपोर्ट 49.3 प्रतिशत, इंजीनियरिंग 8.87 प्रतिशत, रसायन 34 प्रतिशत, दवा 13 प्रतिशत तथा रत्न एवं आभूषण एक्सपोर्ट 5.5 प्रतिशत बढ़ा. वहीं दूसरी ओर कई कृषि जिंसों का एक्सपोर्ट समीक्षाधीन महीने में कम हुआ. इनमें कॉफी, चावल, तंबाकू, काजू और तिलहन शामिल हैं.

चालू वित्त वर्ष की अप्रैल-अक्टूबर की अवधि में एक्सपोर्ट 13.27 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 191 अरब डॉलर पर पहुंच गया. इस दौरान इम्पोर्ट 16.37 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 302.47 अरब डॉलर रहा. इस तरह चालू वित्त वर्ष के पहले सात महीनों अप्रैल-अक्टूबर के दौरान व्यापार घाटा बढ़कर 111.46 अरब डॉलर पर पहुंच गया, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में 91.28 अरब डॉलर था.

समीक्षाधीन महीने में कच्चे तेल का इम्पोर्ट 52.64 प्रतिशत बढ़कर 14.21 अरब डॉलर पर पहुंच गया. गैर तेल इम्पोर्ट छह प्रतिशत की वृद्धि के साथ 29.9 अरब डॉलर रहा. सितंबर में एक्सपोर्ट सालाना आधार पर 2.15 प्रतिशत घटा था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi