S M L

दूसरी तिमाही की जीडीपी वृद्धि दर घटकर 7.6 प्रतिशत रहने का अनुमान

रिपोर्ट में कहा गया है कि औद्योगिक गतिविधियां सुस्त पड़ने से जीडीपी वृद्धि दर नीचे आएगी

Updated On: Nov 28, 2018 09:02 PM IST

Bhasha

0
दूसरी तिमाही की जीडीपी वृद्धि दर घटकर 7.6 प्रतिशत रहने का अनुमान

देश की सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर चालू वित्त वर्ष की सितंबर तिमाही में घटकर 7.6 प्रतिशत रहने का अनुमान है. जून तिमाही में यह 8.2 प्रतिशत रही थी. एक रिपोर्ट में यह अनुमान लगाया गया है. रिपोर्ट में कहा गया है कि औद्योगिक गतिविधियां सुस्त पड़ने से जीडीपी वृद्धि दर नीचे आएगी.

निजी क्षेत्र के एक्सिस बैंक के अर्थशास्त्रियों ने रिपोर्ट में कहा है कि वित्त वर्ष की शेष अवधि में वृद्धि दर दबाव में रहेगी. चालू वित्त वर्ष में इसके 7.1 प्रतिशत रहने का अनुमान है. रिपोर्ट में कहा गया है कि ग्रॉस वेल्यू एडिशन के हिसाब से उद्योग क्षेत्र की वृद्धि दर घटकर 6.6 प्रतिशत रह जाएगी. इसमें कहा गया है कि बिजली उत्पादन में वृद्धि के बावजूद खनन और विनिर्माण गतिविधियां सुस्त पड़ने से उद्योग क्षेत्र की वृद्धि दर कम रहेगी.

रिपोर्ट में कहा गया है कि ऊंचे कारखाना उत्पादन के बावजूद कंपनियों के कमजोर तिमाही नतीजों से विनिर्माण क्षेत्र की वृद्धि दर घटकर 7.5 प्रतिशत रह जाएगी. सेवा क्षेत्र की वृद्धि दर 8.3 प्रतिशत रहेगी लेकिन इससे कुल वृद्धि दर को ऊंचा करने में मदद नहीं मिलेगी. सेवाओं में वित्तीय सेवा और सार्वजनिक प्रशासन ज्यादा तेज रफ्तार से बढ़ेंगे और यह निर्माण और व्यापार क्षेत्र की कमजोरी की भरपाई कर सकेंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi