S M L

ईज ऑफ डूइंग बिजनेस: 23 पायदान बढ़कर 77वें नंबर पर आया भारत

ईज ऑफ डूइंग बिजनेस इंडेक्स में सुधार की वजह से आम चुनावों से पहले नरेंद्र मोदी सरकार को लेकर पॉजिटिव सेंटीमेंट बढ़ेगा

Updated On: Oct 31, 2018 07:51 PM IST

FP Staff

0
ईज ऑफ डूइंग बिजनेस: 23 पायदान बढ़कर 77वें नंबर पर आया भारत
Loading...

भारत में कारोबार करने के माहौल में सुधार हुआ है. वर्ल्ड बैंक ने ईज ऑफ डूइंग बिजनेस की रेटिंग जारी कर दी है. भारत 23 पायदान उछलकर 100वें से 77वें नंबर पर आ गया है. पिछले साल भारत इस लिस्ट में 100वें नंबर पर था.

ब्लूमबर्ग के मुताबिक, इस सूची में इस साल जीएसटी और इनसॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी कोड जैसे सुधारों का फायदा सरकार को मिल सकता है. पिछले साल भारत ने इस रैंकिंग में बड़ी छलांग लगाई थी.

ईज ऑफ डूइंग बिजनेस इंडेक्स में सुधार की वजह से आम चुनावों से पहले नरेंद्र मोदी सरकार को लेकर पॉजिटिव सेंटीमेंट बढ़ेगा. सरकार अभी रुपए की गिरावट और तेल की बढ़ती कीमतों की वजह से विपक्ष के निशाने पर है.

अरुण जेटली ने कहा कि जब हम सत्ता में आए थे तब मोदी ने कहा था कि वह भारत को 50वें पायदान तक लाना चाहते हैं. उन्होंने कहा आज हम 77वें पायदान पर हैं. DIPP ने हर पैमाने पर रैंकिंग बढ़ाने के लिए काम किया है. जेटली ने 2014 में हम 184वे पायदान पर थे. लेकिन एकसमान कंस्ट्रक्शन कानूनों की बदौलत आज हम 129 पायदन उछलकर 52वें पायदान पर आ गए हैं. यह रिकॉर्ड सुधार है.

वर्ल्ड बैंक हर साल आसान कारोबार वाले देशों की सूची जारी करता है इसमें कुल 190 देश होते हैं. मोदी सरकार का सपना इस सूची में भारत को टॉप 50 में लाने का है. इस बार रैंकिंग में भारत का स्थान बहुत महत्वपूर्ण होगा.

कैसे तय होती है यह रैंकिंग

भारत ने 2003 से अब तक 37 बड़े सुधार लागू किए हैं. पिछले साल इस रिपोर्ट में दिल्ली और मुंबई को शामिल किया गया था. रिपोर्ट में किसी कारोबार को शुरू करना, कंस्ट्रक्शन परमिट, क्रेडिट मिलना, छोटे निवेशकों की सुरक्षा, टैक्स देना, विदेशों में ट्रेड, कॉन्ट्रैक्ट लागू करना और दिवालिया शोधन प्रक्रिया को आधार बनाया जाता है.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi