S M L

मोदी-चोकसी के साथ पहले ही व्यापार बंद कर चुके थे हीरा व्यापारी

हीरा व्यापारियों का कहना है कि इन लोगों ने अलिखित कानून को तोड़ा है

Updated On: Mar 02, 2018 05:17 PM IST

FP Staff

0
मोदी-चोकसी के साथ पहले ही व्यापार बंद कर चुके थे हीरा व्यापारी

नीरव मोदी को तलाशने और वापस भारत लाने में भारतीय एजेंसियां अभी भले ही कामयाब न हुई हों. देश के कई हीरा कारोबारियों ने मोदी और चोकसी के साथ व्यापार बंद कर दिया है. इसके पीछे सबसे बड़ी वजह पेमेंट को लेकर बरती जा रही ढील है.

फरवरी में नीरव मोदी और चोकसी के पीएनबी के फर्जी एलओयू के जरिए 11,000 करोड़ के घोटाले की खबर सामने आई. इसके बाद से ही दोनों के कई प्रतिष्ठानों पर छापे मारे गए.

विदेशी समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक गुजरात के हीरा व्यापारियों का कहना है कि मोदी और चोकसी का व्यापार करने का तरीका उन्हें पहले से ही सही नहीं लगता था. दोनों ने हीरा कारोबार के अलिखित नियम को तोड़ा है.

हीरा कारोबार में अगर कोई दो महीने की उधारी पर माल लेता है तो एक महीने तक की अतिरिक्त देरी चल जाती है. इससे ज्यादा देर होने लगती है तो मतलब होता है कि 'कुछ गड़बड़' है.

हीरा व्यापार में अक्सर बैंक के बिना ही आपसी भरोसे पर लेन-देन चलता है. ऐसे में इसका कोई पेपर वर्क नहीं होता. एक व्यापारी के मुताबिक मेहुल चोकसी ने इस भरोसे की अहमियत नहीं समझी. एक बार उन्होंने 6 महीने देर से पेमेंट किया. इसके बाद कई व्यापारियों ने उनसे व्यापार करना बंद कर दिया.

इसी तरह से गीतांजलि ज्वेलर्स की फ्रेंचाइज़ी लेने वाले कई लोगों की शिकायत है कि मेहुल चोकसी ने फ्रेंचाइज़ी की शर्तें पूरी नहीं की. इसके चलते उन्हें स्टोर बंद करने पड़े. इसके बाद 2016 में चोकसी के फ्रॉड की शिकायत करते हुए पीएमओ को खत भी लिखा गया था.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi