S M L

टाटा संस के चेयरमैन से हटाए जाने के खिलाफ मिस्त्री की याचिका खारिज

एनसीएलटी की मुंबई पीठ ने कहा मिस्त्री को इसलिए हटाया गया क्योंकि टाटा संस के निदेशक मंडल और उसके अधिकतर सदस्यों का उन पर (मिस्त्री) से भरोसा उठ गया था

Bhasha Updated On: Jul 09, 2018 03:38 PM IST

0
टाटा संस के चेयरमैन से हटाए जाने के खिलाफ मिस्त्री की याचिका खारिज

राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) ने टाटा संस के चेयरमैन पद से हटाए जाने के खिलाफ दाखिल साइरस मिस्त्री की याचिका को सोमवार को खारिज कर दिया.

मिस्त्री ने खुद को टाटा संस के चेयरमैन पद से हटाने के फैसले को एनसीएलटी में चुनौती देते हुए याचिका दाखिल की थी.

बीएसवी प्रकाश कुमार और वी. नालासेनापति की अध्यक्षता वाली एनसीएलटी की मुंबई पीठ ने कहा मिस्त्री को इसलिए हटाया गया क्योंकि टाटा संस के निदेशक मंडल और उसके अधिकतर सदस्यों का उन पर (मिस्त्री) से भरोसा उठ गया था.

एनसीएलटी ने कहा कि उसने मिस्त्री की उन दलीलों को मंजूर नहीं किया, जिसमें कहा गया था कि उन्हें निदेशक मंडल में गड़बड़ी करके निकाला गया है और यह छोटे शेयरधारकों के साथ धोखा है.

एनसीएलटी पीठ ने कहा कि कंपनी से जुड़ी कुछ अहम जानकारियां इनकम टैक्स विभाग को देने, मीडिया में जानकारियां लीक करने और कंपनी के शेयरधारकों और उसके निदेशक मंडल के खिलाफ सार्वजनिक तौर पर खुलकर सामने आने के बाद मिस्त्री को हटाया गया था क्योंकि निदेशक मंडल और इसके सदस्यों का उन पर से भरोसा खत्म हो गया था.

अक्बटूर 2016 में मिस्त्री को टाटा संस के चेयरमैन पद से हटाया गया था. इसके दो महीने के बाद उनकी कंपनी साइरस इन्वेस्टमेंट ने एनसीएलटी का रूख किया था. याचिका के मुताबिक, पांच महीने बाद उन्हें एनसीएलटी के पास आने के लिए टाटा संस के निदेशक मंडल में निदेशक पद से हटा दिया गया.

एनसीएलटी के इस आदेश के खिलाफ मिस्त्री राष्ट्रीय कंपनी विधि अपीलीय न्यायाधिकरण (एनसीएलएटी) के सामने अपील कर सकते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi