S M L

एसबीआई को नहीं मिला ई-कामर्स कंपनियों से समझौते का लाभ

पिछले साल बैंक ने डिजिटल मंच योनो पेश किया था. इसमें बैंक और उसकी अनुषंगियों की सभी वित्तीय सेवाएं एक ऐप के जरिए उपलब्ध थीं

Updated On: Feb 25, 2018 06:19 PM IST

Bhasha

0
एसबीआई को नहीं मिला ई-कामर्स कंपनियों से समझौते का लाभ

देश के सबसे बड़े भारतीय स्टेट बैंक ने कहा है कि स्नैपडील और फ्लिपकार्ट जैसी विभिन्न ई-कामर्स कंपनियों से गठजोड़ के वांछित नतीजे नहीं मिले हैं, ऐसे में वह अपनी रणनीति पर नए सिरे से काम कर रहा है.

आपूर्ति श्रृंखला वित्तपोषण के लिए एसबीआई ने स्नैपडील, फ्लिपकार्ट, अमेजन और ऐप आधारित टैक्सी सेवाएं देने वाली ओला के साथ गठजोड़ किया था जिससे उनके वेंडरों को कार्यशील पूंजी उपलब्ध कराई जा सके.

एसबीआई के चेयरमैन रजनीश कुमार ने यहां एक कार्यक्रम में कहा, ‘कई बार आप निवेश करते हैं लेकिन तत्काल नतीजे नहीं मिलते. हमने फ्लिपकार्ट, स्नैपडील और ओला से गठजोड़ किया है, लेकिन परिणाम हमारी उम्मीदों के अनुरूप नहीं हैं.’

उन्होंने कहा कि बैंक के पास प्रौद्योगिकी होने के बावजूद मात्रा के हिसाब से अधिक हासिल नहीं हुआ है. कई बार ये ई कामर्स कंपनियां खुद ही वेंडरों को वित्तपोषण उपलब्ध करा देती हैं जिससे हमारे बैंक के कारोबार पर असर पड़ता है.

उन्होंने हालांकि उम्मीद जताई कि निकट भविष्य में लेनदेन बढ़ेगा.

पिछले साल बैंक ने डिजिटल मंच योनो पेश किया था. इसमें बैंक और उसकी अनुषंगियों की सभी वित्तीय सेवाएं एक ऐप के जरिए उपलब्ध थीं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi