S M L

चाइनीज़ रिटेलर्स के आगे पिछड़ रहा है स्टार्ट अप इंडिया

भारतीय स्टार्टअप के सामने इस समय हर तरफ से चुनौतियां हैं

Updated On: Nov 27, 2017 02:09 PM IST

FP Staff

0
चाइनीज़ रिटेलर्स के आगे पिछड़ रहा है स्टार्ट अप इंडिया

चीन के व्यापार करने के तरीके से दुनिया घबराती है. चाइना जिस मात्रा और दाम पर सामान बेचता है उससे मुकाबला करना आसान नहीं है. दिवाली के समय चीन के झालर के बहिष्कार करके चीन की अर्थव्यवस्था को गिराने वालों के लिए बुरी खबर है. भारत की ऑनलाइन शॉपिंग में चीन तेजी से पकड़ बना रहा है.

गैजेट्स नाओ के मुताबिक पिछले कुछ महीनों में ऑनलाइन बाज़ार में क्लब फैक्ट्री, श्लेन और अली एक्सप्रेस जैसे ई-टेलर्स ने तेजी से पकड़ बनाई है. रिपोर्ट के मुताबिक इन कंपनियों को 10-15,000 ऑर्डर रोज मिल रहे हैं. ऑनलाइन रिटेलिंग के लिहाज से ये बड़ा नंबर है.

जाहिर सी बात है इस बढ़त का सीधा असर भारतीय स्टार्टअप पर पड़ रहा है. जिन पर एक तरफ अमेज़न और ई-बे की मार है और दूसरी तरफ इन चायनीज़ कंपनियों की.

अमेज़न जैसी कंपनियां जहां दुनिया भर के ब्रांड्स को भारतीय उपभोक्ता के दरवाजे पर लाकर लोकप्रिय हो रही हैं. चीन की कंपनियां सीधे फैक्ट्री रेट पर सामान बेचकर भारतीय कंपनियों की मुश्किलें बढ़ा रही हैं. चीनी कंपनियों के लिए एक ही मुश्किल है कि वो कैश ऑन डिलीवरी नहीं दे पाती हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi