S M L

चंदा कोचर की बढ़ी मुश्किलें, ICICI बैंक को चुकाने होंगे 350 करोड़ रुपए

उन्होंने दावा किया, 'बैंक का संगठनात्मक ढांचा और संरचना हितों के टकराव की संभावना को कम करती है.'

Updated On: Jan 31, 2019 03:12 PM IST

FP Staff

0
चंदा कोचर की बढ़ी मुश्किलें, ICICI बैंक को चुकाने होंगे 350 करोड़ रुपए

आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व चीफ चंदा कोचर पर सीबीआई की ओर से लगे भ्रष्टाचार के आरोपों के बाद से उन्हें बैंक ने पद से हटा दिया है. वहीं बैंक निदेशक मंडल ने साल 2009 से कोचर को दिए बोनस को वापस लेने के लिए भी कहा है.

इकॉनोमिक टाइम्स के मुताबिक चंदा कोचर को करीब 350 करोड़ रुपए की रकम बैंक को भुगतान करनी पड़ सकती है. दरअसल, रिपोर्ट में बताया गया है कि ईसॉप (Employee Stock Options) के जरिए वित्त वर्ष 2009 से करीब 343 करोड़ रुपए कोचर को मिले. साथ ही 10 करोड़ रुपए का बोनस भी मिला था.

वहीं आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) चंदा कोचर ने बैंक के जरिए उनके इस्तीफे को गंभीर गलतियों के लिए बर्खास्तगी के तौर पर लेने के फैसले को लेकर हैरानी, निराशा और दुख जताया है. बैंक ने श्रीकृष्ण समिति के जरिए की गई स्वतंत्र जांच की रिपोर्ट मिलने के बाद यह फैसला किया है. बैंक निदेशक मंडल ने इसके साथ ही 2009 से कोचर को दिए गए बोनस को वापस लेने के लिए कहा है.

कोचर ने कहा कि उन्होंने पूरी मेहनत और निष्ठा के साथ 34 साल तक आईसीआईसीआई समूह की सेवा की है और बैंक के ताजा फैसले से उन्हें बहुत दुख और तकलीफ पहुंची है. कोचर ने बयान में कहा कि बैंक में कर्ज देने का कोई भी निर्णय एक तरफा नहीं होता है. बैंक ने पूरी प्रक्रिया और प्रणाली स्थापित की है, जिसमें एक समिति आधारित सामूहिक निर्णय लिया जाता है.

उन्होंने दावा किया, 'बैंक का संगठनात्मक ढांचा और संरचना हितों के टकराव की संभावना को कम करती है.' कोचर ने कहा, 'मैंने अपने करियर को पूरी ईमानदारी के साथ आगे बढ़ाया है. एक पेशेवर के रूप में मुझे अपने आचरण पर पूरा विश्वास है. मुझे पूरा भरोसा है कि अंत में सत्य की जीत होगी.'

दरअसल, न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) बी एन श्रीकृष्णा की अध्यक्षता वाली स्वतंत्र जांच समिति ने पाया कि कोचर ने बैंक की नीतियों और दूसरे नियमों का उल्लंघन किया है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi