S M L

निवेशकों की खरीदारी से सेंसेक्स की लंबी छलांग, निफ्टी का नया रिकॉर्ड

शेयर बाजारों में दो दिन की बिकवाली के बाद शुक्रवार को तेजी लौट आई. निवेशकों की लिवाली से बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 391 अंक की छलांग के साथ 37,556.16 अंक पर पहुंच गया

Bhasha Updated On: Aug 03, 2018 07:56 PM IST

0
निवेशकों की खरीदारी से सेंसेक्स की लंबी छलांग, निफ्टी का नया रिकॉर्ड

शेयर बाजारों में दो दिन की बिकवाली के बाद शुक्रवार को तेजी लौट आई. निवेशकों की लिवाली से बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 391 अंक की छलांग के साथ 37,556.16 अंक पर पहुंच गया. वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी अपने सर्वकालिक उच्चस्तर पर पहुंच गया. मौसम विभाग ने कहा है कि अगस्त और सितंबर में मानसून की बारिश सामान्य रहेगी, जिससे ग्रामीण अर्थव्यवस्था के लिए वृद्धि की संभावना बढ़ी है.

बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स दिनभर सकारात्मक दायरे में रहा और एक समय यह 37,582.27 अंक के दिन के उच्चस्तर तक चला गया. अंत में सेंसेक्स 391 अंक या 1.05 प्रतिशत की बढ़त के साथ 37,556.16 अंक पर बंद हुआ. 31 मई के बाद यह एक दिन में सेंसेक्स की सबसे बड़ी बढ़त है. उस दिन सेंसेक्स 416.27 अंक चढ़ा था. निवेशकों ने हालिया नुकसान वाले बैंकिंग, वाहन और रीयल्टी कंपनियों के शेयरों की लिवाली की जिससे बाजार में तेजी आई.

भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा मौद्रिक समीक्षा में नीतिगत दरों में बढ़ोतरी के बाद पिछले दो सत्रों में सेंसेक्स 441.42 अंक नीचे आया था. अमेरिका-चीन व्यापार विवाद बढ़ने और केंद्रीय बैंक द्वारा ब्याज दरों में बढ़ोतरी से बाजार प्रभावित हुआ.

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 116.10 अंक या 1.03 प्रतिशत की बढ़त के साथ 11,360.80 अंक के नए रिकॉर्ड पर बंद हुआ. इससे पहले 31 जुलाई को निफ्टी ने 11,356.50 अंक का रिकॉर्ड बनाया था.

कारोबार के दौरान निफ्टी 11,368 से 11,294.55 अंक के दायरे में रहा. यह 29 जून के बाद निफ्टी में एक दिन की सबसे बड़ी बढ़त है. उस दिन निफ्टी 125.20 अंक चढ़ा था. साप्ताहिक आधार पर सेंसेक्स और निफ्टी में लगातार दूसरे सप्ताह बढ़त रही. साप्ताहिक आधार पर सेंसेक्स 219.31 अंक या 0.59 प्रतिशत तथा निफ्टी 82.45 अंक या 0.73 प्रतिशत ऊंचा रहा है.

इस बीच, शेयर बाजारों के अस्थाई आंकड़ों के अनुसार विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने गुरुवार को शुद्ध रूप से 639.87 करोड़ रुपए के शेयर बेचे. घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 340.30 करोड़ रुपए की बिकवाली की.

मौसम विभाग के अनुमान के बाद आई बाजार में तेजी

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘मौसम विभाग के अनुमान के बाद दो दिन टूटने के बाद बाजार में फिर तेजी आई. बैंकिंग शेयरों का प्रदर्शन अच्छा रहा, जिससे बाजार को फायदा हुआ.’

नायर ने कहा, ‘इसके अलावा देश की सेवा पीएमआई आंकड़े में वृद्धि और कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट से भी बाजार धारणा को बल मिला.’ उन्होंने कहा कि निवेशकों को अब अमेरिका के रोजगार आंकड़ों और फेडरल रिजर्व के ब्याज दरों पर रुख का इंतजार है.’

जुलाई में लगातार दूसरे महीने भारत की सेवा क्षेत्र की गतिविधियां सकारात्मक दायरे में रहीं. मासिक सर्वे के अनुसार अक्टूबर, 2016 से कारोबारी गतिविधियों में सबसे अधिक वृद्धि आई है.

निक्की इंडिया का सेवा कारोबारी गतिविधि सूचकांक जून के 52.6 से जुलाई में 54.2 पर पहुंच गया. ओएनजीसी का शेयर 0.48 प्रतिशत चढ़ गया. कंपनी के गुरुवार को जारी जून तिमाही परिणाम में उसका शुद्ध लाभ 58.1 प्रतिशत बढ़ा है.

एशियाई बाजारों में रहा मिलाजुला रुख

सेंसेक्स की कंपनियों में एक्सिस बैंक का शेयर सबसे अधिक 5.17 प्रतिशत बढ़ा. वेदांता में 3.60 प्रतिशत का लाभ रहा. यस बैंक 2.96 प्रतिशत, आईसीआईसीआई बैंक 2.33 प्रतिशत, कोटक बैंक 2.20 प्रतिशत, एचडीएफसी 2.16 प्रतिशत, कोल इंडिया 1.94 प्रतिशत, आईटीसी 1.57 प्रतिशत, एसबीआई 1.56 प्रतितशत और टीसीएस 1.37 प्रतिशत लाभ में रहा.

वहीं दूसरी ओर टाटा मोटर्स का शेयर 0.84 प्रतिशत टूट गया. हीरो मोटोकॉर्प 0.71, एशियन पेंट्स 0.50 प्रतिशत, एचडीएफसी बैंक 0.39 प्रतिशत, विप्रो 0.32 प्रतिशत और इंडसइंड बैंक 0.28 प्रतिशत नीचे आया. वित्तीय संकट की खबरों के बीच जेट एयरवेट का शेयर सात प्रतिशत टूट गया. बीएसई स्मॉलकैप 1.16 प्रतिशत तथा मिडकैप 0.93 प्रतिशत चढ़ा.

एशियाई बाजारों में मिलाजुला रुख रहा. जापान का निक्की 0.06 प्रतिशत चढ़ा, ताइवान में 0.76 प्रतिशत का लाभ रहा. वहीं हांगकांग का हैंगसेंग 0.14 प्रतिशत टूटा. शंघाई कम्पोजिट में एक प्रतिशत का नुकसान रहा. शुरुआती कारोबार में यूरोपीय बाजार ऊपर चल रहे थे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi