S M L

इंटरनेशनल मार्केट का पड़ा असर, सेंसेक्स ने लगाया 344 अंक का गोता

डॉलर के मुकाबले रुपए में गिरावट के बीच वैश्विक बाजारों में नरमी के साथ बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स भी गुरुवार को करीब 344 अंक का गोता लगाकर 33,690.09 अंक पर बंद हुआ

Updated On: Oct 25, 2018 07:51 PM IST

Bhasha

0
इंटरनेशनल मार्केट का पड़ा असर, सेंसेक्स ने लगाया 344 अंक का गोता
Loading...

डॉलर के मुकाबले रुपए में गिरावट के बीच वैश्विक बाजारों में नरमी के साथ बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स भी गुरुवार को करीब 344 अंक का गोता लगाकर 33,690.09 अंक पर बंद हुआ. कारोबारियों के अनुसार, अक्टूबर के वायदा एवं विकल्प खंड के सौदों की समाप्ति से पहले निवेशकों ने सौदों को नवंबर के लिए अगली श्रृंखला में ले जाने के बजाय उसका निपटान करना ही उचित समझा.

अक्टूबर वायदा एवं विकल्प श्रृंखला के दौरान बीएसई सेंसेक्स 2,634.08 अंक या 7 प्रतिशत से अधिक नीचे आया जबकि एनएसई निफ्टी 852.65 अंक या करीब 8 प्रतिशत टूटा है.

अमेरिकी बाजार का पड़ा असर

अमेरिकी शेयर बाजार में बुधवार की गिरावट के बाद वैश्विक बाजारों पर इसका नकारात्मक असर रहा और प्रौद्योगिकी कंपनियों के शेयरों में तीव्र गिरावट दर्ज की गई. कंपनियों की कमाई को लेकर चिंता और निराशाजनक परिदृश्य से घरेलू बाजार दबाव में रहा. विदेशी मुद्रा बाजार में कारोबार के दौरान दिन में रुपया अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 22 पैसे टूटकर 73.38 पर आ गया.

तीस शेयरों वाला सेंसेक्स गिरावट के साथ 33,778.60 अंक पर खुला और इसमें गिरावट आगे भी जारी रही. चौतरफा लिवाली से एक समय 33,553.18 अंक के न्यूनतम स्तर तक चला गया. अंत में यह 343.87 अंक या 1.01 प्रतिशत की गिरावट के साथ 33,690.09 अंक पर बंद हुआ.

इससे पहले बुधवार को सेंसेक्स करीब 187 अंक मजबूत हुआ था. नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी भी 99.85 अंक या 0.98 प्रतिशत की गिरावट के साथ 10,200 अंक से नीचे लुढ़ककर 10,124.90 अंक पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान यह 10,166.60 से 10,079.30 अंक के दायरे में रहा.

सभी खंडवार सूचकांक नुकसान में रहे. सेंसेक्स के 30 शेयरों में से 22 नुकसान में रहे. सेंसेक्स के शेयरों में सर्वाधिक नुकसान में भारती एयरटेल रही. कंपनी का शेयर 6.60 प्रतिशत नीचे आया.

इस बीच, अस्थायी आंकड़ों के अनुसार विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने बुधवार को 2,040.54 करोड़ रुपए मूल्य के शेयर बेचे जबकि घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 1,873.51 रुपए मूल्य के शेयर खरीदे.

एमके ग्लोबल फाइनेंशियल सर्विसेज के एवीपी (डेरिवेटिव्स) राहुल मिश्र ने कहा, 'पूरे महीने बाजार में गिरावट बनी रही. निफ्टी 11,000 के स्तर से 7 प्रतिशत नीचे आया. आईएल एंड एफएस संकट के बाद नकदी की समस्या, रुपए की विनिमय दर में गिरावट और कच्चे तेल के दाम में उतार-चढ़ाव से निवेशक बाजार से थोड़े दूर हैं.'

नुकसान में रहने वाले शेयर

नुकसान में रहने वाले अन्य प्रमुख शेयरों में वेदांता, टाटा मोटर्स, अडाणी पोट्र्स, यस बैंक, एचडीएफसी लि., एसबीआई, सन फार्मा, इंडस इंड बैंक, आरआईएल, एल एंड टी, एचडीएफसी बैंक, ओएनजीसी, एचयूएल, आईसीआईसीआई बैंक, एनटीपीसी, एक्सिस बैंक, टाटा स्टील, आईटीसी लि., इन्फोसिस तथा पावर ग्रिड 3.47 प्रतिशत तक नीचे आया.

कार बनाने वाली देश की सबसे बड़ी कंपनी मारुति सुजुकी का शेयर 0.65 प्रतिशत नीचे आया. कंपनी ने गुरूवार को बताया कि दूसरी तिमाही में उसका शुद्ध लाभ 9.8 प्रतिशत घटकर 2,240.4 करोड़ रुपए रह गया.

दूसरी तरफ विप्रो, कोल इंडिया, कोटक बैंक, एशियन पेंट्स, महिंद्रा एंड महिंद्रा और टीसीएसी में 3.30 प्रतिशत तक की बढ़त दर्ज की गई. एशिया के अन्य बाजारों में जापान का निक्केई 3.72 प्रतिशत, हांगकांग का हैंग सेंग 1.01 प्रतिशत और कोरिया 1.63 प्रतिशत नीचे आये. ताइवान का बाजार भी 2.44 प्रतिशत नीचे आया.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi