S M L

ED की कार्रवाई पर रोक लगाने की माल्या ने डाली थी याचिका, बॉम्बे HC ने की खारिज

विजय माल्या ने भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित करने और उनकी संपत्तियां जब्त करने के ईडी के आग्रह पर रोक की मांग की थी

Updated On: Nov 22, 2018 05:22 PM IST

FP Staff

0
ED की कार्रवाई पर रोक लगाने की माल्या ने डाली थी याचिका, बॉम्बे HC ने की खारिज

बॉम्‍बे हाईकोर्ट ने गुरुवार को भगोड़े कारोबारी विजय माल्या की उस याचिका को खारिज कर दिया, जिसमें उन्हें भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित करने और उनकी संपत्तियां जब्त करने के प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के आग्रह पर रोक की मांग की गई थी.

ईडी ने विशेष पीएमएलए अदालत के सामने एक याचिका दायर करके माल्या को भगोड़ा आर्थिक अपराधी कानून, 2018 के तहत ‘भगोड़ा’ घोषित करने का अनुरोध किया था.

कानून के प्रावधानों के तहत, किसी व्यक्ति के एक बार भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित होने के बाद अभियोजन एजेंसी के पास आरोपी की संपत्तियों को जब्त करने की शक्तियां आ जाती हैं. माल्या ने निचली अदालत में आवेदन दायर करके ईडी की याचिका पर सुनवाई पर 26 नवंबर तक रोक का अनुरोध किया था. 26 नवंबर को पीएमएलए के तहत संचालित कन्फेडरेशन ऑफ अपीलेट ट्रिब्यूनल बैंक की ओर से उनका बकाया वापस पाने के लिए दायर मामलों की सुनवाई करेगी.

विशेष अदालत ने 30 अक्टूबर को माल्या का आवदेन खारिज किया था, जिसके बाद शराब कारोबारी ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था. माल्या के वकील अमित देसाई ने गुरुवार को जस्टिस आर एम सावंत और जस्टिस वी के जाधव की बेंच से कहा कि उनकी याचिकाओं को कार्यवाही से भागने का प्रयास नहीं माना जाना चाहिए.

देसाई ने कहा कि 'हम भी बकाया चुकाने को लेकर चिंता में हैं और सुनिश्चित करना चाहते हैं कि धनदाताओं को उनका बकाया वापस मिले. हम केवल इतना चाहते हैं कि प्रवर्तन निदेशालय संपत्तियां जब्त न करे क्योंकि यह बकाया चुकाने की प्रक्रिया को प्रभावित करेगा.' हालांकि हाईकोर्ट ने कहा कि वह कोई राहत देने के पक्ष में नहीं है.

(एजेंसी से इनपुट के साथ)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi