S M L

काला धन: दो कंपनियों और तीन लोगों की जानकारी बताने के लिए स्विस सरकार तैयार

स्विस सरकार की तरफ से जारी किए गए एक विज्ञप्ति के अनुसार, देश का संघीय कर विभाग जिओडेसिक लिमिटेड और आड़ी एंटरप्राइजेज प्राइवेट लिमिटेड की जानकारी भारत के साथ शेयर करने के लिए तैयार हो गया है

Updated On: Dec 02, 2018 10:45 PM IST

FP Staff

0
काला धन: दो कंपनियों और तीन लोगों की जानकारी बताने के लिए स्विस सरकार तैयार

स्विट्ज़रलैंड अब अपने काले धन के लिए एक सुरक्षित आश्रय के रूप में बनी अपनी छवि को छोड़ना चाहता है. इसके तहत स्विट्ज़रलैंड अब भारतीय अधिकारियों के साथ दो कंपनियों और तीन व्यक्तियों के बारे में जानकारी साझा करने पर सहमत हो गया है. यह सभी भारत में कई तरह के जांच का सामना कर रहे हैं. दो में से एक भारतीय कंपनी सार्वजनिक रूप से सूचीबद्ध इकाई थी. और इसे सेबी के गुस्से का सामना करना पड़ा है. जबकि दूसरी कंपनी के बारे में माना जाता है कि तमिलनाडु में उसका राजनीतिक संबंध है.

स्विस सरकार की तरफ से जारी किए गए एक विज्ञप्ति के अनुसार, देश का संघीय कर विभाग जिओडेसिक लिमिटेड और आड़ी एंटरप्राइजेज प्राइवेट लिमिटेड की जानकारी भारत के साथ शेयर करने के लिए तैयार हो गया है.

इसी तरह के अनुरोध जियोडेसिक लिमिटेड के साथ जुड़े तीन लोगों के लिए भी स्वीकार कर लिया गया है. पंकज कुमार ओंकार श्रीवास्तव, प्रशांत शरद मुलेकर और किरण कुलकर्णी.

स्विस सरकार के फैसले के खिलाफ जा सकते हैं आरोपी:

हालांकि स्विस सरकार ने दोनों कंपनियों और तीनों व्यक्तियों के संबंध में भारतीय अधिकारियों द्वारा मांगी गई जानकारी और सहायता से संबंधित किसी भी तरह की जानकारी का खुलासा नहीं किया है. वहीं संबंधित कंपनियां और व्यक्ति, भारत को प्रशासनिक सहायता प्रदान करने के स्विट्जरलैंड के संघीय कर प्रशासन (एफटीए) के निर्णय के खिलाफ अपील दायर कर सकते हैं.

न्यूज18 के मुताबिक 1982 में स्थापित जियोडेसिक एक समय में तेजी से बढ़ती हुई कंपनी के रूप में जाना जाता था. अब इसकी कोई वेबसाइट भी नहीं है. और न ही अब ये एक लिस्टेड कंपनी है. कंपनी और इसके निदेशकों पर सेबी ने नियामक कार्रवाई भी की है. इसके साथ ही प्रवर्तन निदेशालय और मुंबई पुलिस के आर्थिक अपराध विंग ने भी इनसे पूछताछ की है.

स्टॉक एक्सचेंजों पर कंपनी के बारे में नवीनतम उपलब्ध जानकारी के मुताबिक, पंकजकुमार जिओडसिक के चेयरमैन, किरण कुलकर्णी- प्रबंध निदेशक और प्रशांत मुलेकर- कार्यकारी निदेशक के रूप में सूचीबद्ध थे.

आदी एंटरप्राइजेज प्राइवेट लिमिटेड नवंबर 2014 में चेन्नई स्थापित हुआ था. कहा जाता है कि कंपनी ने रियल एस्टेट और अन्य व्यवसायों में बहुत तेज वृद्धि की थी. लेकिन जल्द ही राजनेताओं के साथ कथित लिंक होने और मनी लॉन्ड्रिंग में नाम आने के बाद यह खत्म हो गई.

 

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi