विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

नौकरी मांगने वाले 500 लोगों में सिर्फ 3 को मिलती है जॉब

एम्प्लॉयमेंट एक्सचेंज के जरिए सिर्फ 0.57 फीसदी आवेदनकर्ताओं को ही नौकरी मिलती है

FP Staff Updated On: Jul 26, 2017 02:43 PM IST

0
नौकरी मांगने वाले 500 लोगों में सिर्फ 3 को मिलती है जॉब

एम्प्लॉयमेंट एक्सचेंज के जरिए सिर्फ 0.57 फीसदी आवेदनकर्ताओं को ही नौकरी मिलती है. हालांकि गुजरात में एम्प्लॉयमेंट एक्सचेंज करीब 30 फीसदी लोगों का प्लेसमेंट करते हैं.

इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के मुताबिक 2015 में नौकरी के लिए आवेदन करने वालों में से हरेक 500 लोगों में से सिर्फ 3 लोगों को ही नौकरी मिल पाई. गुजरात को अपवाद मानें तो 2015 में गोवा को छोड़कर किसी भी राज्य में नौकरी के लिए आवेदन करने वालों में से 1 फीसदी लोगों को भी नौकरी नहीं मिली. जबकि 2015 के पहले 9 महीने में नौकरी के लिए आवेदन करने वाले लोगों की संख्या में भारी बढ़ोतरी हुई.

सारे एम्प्लॉयमेंट एक्सचेंज नेशनल करियर सर्विस (एनसीएस) पोर्टल से जुड़े हैं. इस पोर्टल से पता चलता है कि सरकारी और प्राइवेट सेक्टर को मिलाकर कुल 53 सेक्टरों में 3000 से अधिक प्रकार की नौकरियों में ये एक्सचेंज्स इच्छुक लोगों को नौकरियां दिलाने का काम करते हैं. इस पोर्टल के जरिए एम्प्लॉयर्स और नौकरी के इच्छुक दोनों जुड़ सकते हैं.

श्रम मंत्रालय की वार्षिक रिपोर्ट के मुताबिक एक्सचेंज्स के जरिए प्राइवेट सेक्टर में अधिक प्लेसमेंट हो रहा है.

तेजी से बढ़ रही है नौकरी चाहने वालों की संख्या 

गुजरात में प्लेसमेंट रेट सबसे अधिक भले ही हो लेकिन नौकरी के लिए सबसे अधिक लोग तमिलनाडु में एक्सचेंज में रजिस्ट्रेशन करवाते हैं. गुजरात में सिर्फ 6.88 लाख लोगों ने 2015 के पहले 9 महीनों में रजिस्ट्रेशन करवाया था जबकि तमिलनाडु में 80 लाख लोगों ने. तमिलनाडु के बाद पश्चिम बंगाल, यूपी, केरल और महाराष्ट्र में इन एम्प्लॉयमेंट एक्सचेंज्स में नौकरी के लिए रजिस्ट्रेशन करवाते हैं.

डाटा से यह भी पता चलता है कि नौकरी के लिए आवेदन करने वाले लोगों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. 2012 में जहां 4.47 करोड़ लोगों ने देशभर के एम्प्लॉयमेंट एक्सचेंज्स में रजिस्ट्रेशन करवाया था, वहीं 2014 में 4.82 करोड़ थी. 2015 के पहले 9 महीने में ही 4.48 करोड़ लोग रजिस्ट्रेशन करवा चुके थे और इसी रेट से इसके साल के अंत तक 5.98 करोड़ होने का अनुमान है.

डाटा यह भी दिखाता है कि जहां नौकरी के लिए आवेदन करने वालों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है वहीं प्लेसमेंट की रेट लगातार कम होती जा रही है. 2012 में प्लेसमेंट रेट 0.95 फीसदी था जो 2013 में घटकर 0.72 फीसदी हो गया और 2014 में 0.70 फीसदी. 2015 के पहले 9 महीनों में यह 0.57 फीसदी ही रह गया.

देश में अभी कुल 997 एम्प्लॉयमेंट एक्सचेंज्स हैं. सबसे अधिक 99 एम्प्लॉयमेंट एक्सचेंज्स यूपी में हैं और सिक्किम में एक भी एम्प्लॉयमेंट एक्सचेंज नहीं है. जबकि छोटे राज्य गोवा और केंद्रशासित प्रदेशों में सिर्फ एक एम्प्लॉयमेंट एक्सचेंज है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi