S M L

मंगलवार को ही क्यों की जाती है राम भक्त हनुमान की पूजा

हनुमान जी की पूजा करने के साथ साथ उन्हें लाल रंग का राम नाम का ध्वज चढ़ाने की भी विशेष मान्यता है

FP Staff Updated On: Dec 05, 2017 11:54 AM IST

0
मंगलवार को ही क्यों की जाती है राम भक्त हनुमान की पूजा

मंगलवार का दिन राम भक्त हनुमान  की पूजा के लिए सर्वश्रेष्ठ माना जाता है. इस दिन हनुमान जी की पूजा करने से नकारात्मक चीजें दूर रहती हैं और जीवन में साहस, आत्मविश्वास और शक्ति की प्राप्ति होती है. मान्यता है कि मंगलवार के दिन ही हनुमान जी का जन्म हुआ था और उन्हें मंगल ग्रह का नियंत्रक भी माना जाता है. इसलिए मंगलवार का दिन हनुमान जी की पूजा के लिए उत्तम माना जाता है. मान्यता है कि अगर 11 मंगलवार हनुमान जी का व्रत रखा जाए और दर्शन किए जाए तो सभी प्रकार के कर्जों से छुटकारा मिलता है.

क्यों चढ़ाया जता है लाल रंग का तिकोना ध्वज

हनुमान जी की पूजा करने के साथ साथ उन्हें लाल रंग का राम नाम का ध्वज चढ़ाने की भी विशेष मान्यता है.

कहते जब महाभारत का युद्द हो रहा था तब अर्जुन के रथ पर लगे ध्वज पर हनुमान जी विराजमान थे जिन्होंने युद्ध के दौरान पांडवो की रक्षा की. जिसके बाद से हनुमान जी को ध्वज चढ़ाया जाता है. मान्यता है कि मंगलवार के दिन राम नाम का तिकोना ध्वज चढ़ाने से आयु रक्षा, मुकदमों, परीक्षा में विजय और संपत्ति की प्राप्ति होती है.

 सिंदूर से ही क्यों होती है हनुमान जी की पूजा.

मान्यताओं के अनुसार एक बार जब हनुमान जी ने माता सीता को उनके सिंदूर लगाने का कारण पूछा तब देवी सीता ने कहा कि ये सिंदूर उनके और भगवान राम के प्रेम और साथ का मानक है. भगवान राम हमेशा उनके साथ रहे इसलिए वो अपनी मांग भरती है. इस पर हनुमान जी बोले अगर आप चुटकी भर सिंदूर से भगवान राम को अपना बना लेती है तो मे भी आज से अपने शरीर पर सिंदूर का लेप लगाउंगा. तभी से हनुमान जी को सिंदूर का लेप लगाकर पूजा करने की मान्यता है. लेकिन कहा जाता है कि महिलाओं को हनुमान जी को सिंदूर लगाने से बचना चाहिए. महिलाएं हनुमान जी को लाल फूल अर्पित करके भी पूजा कर सकती हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
DRONACHARYA: योगेश्वर दत्त से सीखिए फितले दांव

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi