S M L

अंगारक चतुर्थी 2018: भगवान गणेश पूरी करेंगे मनोकामना, जानिए पूजा विधि

हिंदू धर्म में व्रत का काफी महत्व है. साल में हिंदुओं के जरिए कई व्रत किए जाते हैं. इनमें विनायकी चतुर्थी का व्रत भी काफी महत्व रखता है.

Updated On: Dec 10, 2018 04:00 PM IST

FP Staff

0
अंगारक चतुर्थी 2018: भगवान गणेश पूरी करेंगे मनोकामना, जानिए पूजा विधि

हिंदू धर्म में व्रत का काफी महत्व है. साल में हिंदुओं के जरिए कई व्रत किए जाते हैं. इनमें विनायकी चतुर्थी का व्रत भी काफी महत्व रखता है. हर महीने की शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को भगवान श्रीगणेश को प्रसन्न करने के लिए ये व्रत रखा जाता है. वहीं अगर यह व्रत मंगलवार को आता है तो इसे अंगारक विनायकी चतुर्थी कहा जाता है. इस बार 11 दिसंबर को यह व्रत रखा जाएगा. वहीं 11 तारीख को मंगलवार है.

मान्यता है कि भगवान गणेश का ये व्रत करने से श्रीगणेश की कृपा पाई जा सकती है और साथ ही मनोकामना भी पूरी की जा सकती है. इस व्रत को रखने से जीवन में निरंतर सफलता हासिल की जा सकती है.

अंगारक विनायकी चतुर्थी व्रत

इस व्रत के लिए सुबह जल्दी उठकर स्नान किया जाता है. इसके बाद भगवान गणेश की प्रतिमा स्थापना की जाती है. वहीं व्रत का संकल्प लेकर भगवान गणेश की षोड़शोपचार पूजा की जाती है. पूजा के दौरान भगवान गणेश की मूर्ति पर सिंदूर चढ़ाएं और गणेश मंत्र (ऊँ गं गणपतयै नम:) बोलते हुए 21 दूर्वा दल चढ़ाएं.

वहीं भगवान गणेश को मोदक काफी प्रिय है. इसके लिए बूंदी के 21 लड्डुओं का भोग भी भगवान गणेश को लगाएं और साथ ही इनमें से 5 लड्डू मूर्ति के पास रखें. साथ ही 5 लड्डू ब्राह्मण को दान कर दें और बाकी लड्डू प्रसाद के रूप में बांट दें. इस चतुर्थी के दिन ब्राह्मणों को भोजन कराएं और उन्हें दक्षिणा भी दें. वहीं शाम को खुद भोजन करें.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi