S M L

मौनी अमावस्या 2018: इन उपायों से दूर होंगे कष्ट, मौन रखने से होगा लाभ

क्या है मौनी अमावस्या और क्या है इसका महत्तव जानिए

Updated On: Jan 15, 2018 07:15 PM IST

FP Staff

0
मौनी अमावस्या 2018: इन उपायों से दूर होंगे कष्ट, मौन रखने से होगा लाभ

इस साल 16 जनवरी को मौनी अमावस्या का शुभ संयोग बन रहा है. इस अमावस्या को कृष्ण पक्ष की अमावस्या भी कहा जाता है. कहते हैं मौनी अमावस्या के दिन मौन रखने, गंगा स्नान करने और दान देने से विशेष फल मिलता है. मान्यता है कि इस दिन भगवान मनु का जन्म हुआ था.

क्या है महत्व

माघ महीने में पड़ने वाले इस दिन का खास महत्तव है.मौनी अमावस्या का ये दिन पृथ्वी पर देवों और पितरों के संगम के रूप में मनाया जाता है. इसी कारण पितरों से संबंधित सभी श्राद्ध-तर्पण जैसे कार्य अमावस्या तक पूरे कर लिए जाते हैं. कहा जाता है, समुद्र मंथन के दौरान जहां-जहां अमृत की बूंदे गिरी, अगर वहां पर जप-तप, स्नान आदि किया जाए तो उससे विशेष फल मिलता है और पुण्य की प्राप्ति होती है. संभव हो तो इस दिन अपने सामर्थ्य के अनुसार दान-दक्षिणा करें.

मौनी अमावस्या के दिन इन उपायों से दूर होंगी मुश्किलें

मान्यता है कि इस दिन गंगा स्नान करने, मौन रहकर और विधि-विधान से पूजा करने से भगवान नारायण को प्रसन्न किया जा सकता है. मान्यता है कि इस दिन सूर्य नारायण को अर्घ्य देने से गरीबी दूर होती है. कहा जाता है कि जिन लोगों का चंद्रमा कमजोर है अगर वो इस दिन गाय को दही और चावल खिलाएं तो उन्हें आंतरिक शांती की प्राप्ति होती है. इस दिन संभव हो तो 108 बार तुलिसी की परिक्रमा करें. इसके साथ ही ॐ नमो भगवते वासुदेवाय, ॐ खखोल्काय नमः ॐ नमः शिवाय इन मंत्रों का उच्चारण करें

मौनी अमावस्या का शुभ मुहूर्त

मौनी अमावस्या का मुहूर्त सुबह 5 बजकर 11 मिनट पर शुरू हो रहा है जो अगले दिन यानी 17 जनवरी को सुबह 7 बजकर 47 मिनट तक रहेगा.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi