S M L

मार्गशीर्ष पूर्णिमा 2017ः जानिए क्या है महत्व और कैसे की जाती है पूजा

इस दिन चंद्र देव की पूजा करने से चंद्र ग्रह के दोषों से मुक्ति मिलती है

FP Staff Updated On: Dec 02, 2017 07:40 PM IST

0
मार्गशीर्ष पूर्णिमा 2017ः जानिए क्या है महत्व और कैसे की जाती है पूजा

गीता के उपदेशों में भगवान कृष्ण ने कहा है कि मैं महीनों में सबसे पवित्र मार्गशीर्ष को मानता हूं. भगवान कृष्ण के इस कथन से ये साफ हो जाता है कि हिंदुओं के लिए इस महीने का क्या महत्व है. इसी महीने में पूर्णिमा का व्रत पड़ता है जिसका विशेष महत्व है. ऐसी मान्यता है कि इसी माह की पहली तिथि से सनातन धर्म के अनुसार सतयुग काल का प्रारंभ देवताओं ने किया था.

इस बार मार्गशीर्ष पूर्णिमा रविवार (3 दिसंबर) को है. इस पूर्णिमा को बत्तीसी पूर्णिमा भी कहा जाता है. इस दिन लोग व्रत रखते हैं और भगवान सत्यनारायण की पूजा की जाती है. इस दिन को भगवान सत्यनारायण की कथा सुनना और पूजा करना शुभ माना जाता है. इस दिन लोग ब्राह्मणों को दान-दक्षिणा भी देते हैं. ऐसी मान्यता है कि इस दिन व्रत रखने वालों की सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती है.

पुरानी मान्यताओं के अनुसार पूर्णिमा के दिन चंद्रमा को अमृत से सिंचित किया गया था. इस दिन चंद्र देव की पूजा करने से चंद्र ग्रह के दोषों से मुक्ति मिलती है. चंद्र ग्रह के क्रूर प्रभाव से बचने के लिए कन्या को वस्त्र देने चाहिए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
कोई तो जूनून चाहिए जिंदगी के वास्ते

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi