live
S M L

मार्गशीर्ष अमावस्या 2018: व्रत से दूर होगा कुंडली दोष, लक्ष्मी पूजन का भी है महत्व

मान्यता है कि इस महीने की अमावस्या का महत्व कार्तिक महीने में आने वाली अमावस्या से कम नहीं होता है.

Updated On: Dec 06, 2018 07:14 PM IST

FP Staff

0
मार्गशीर्ष अमावस्या 2018: व्रत से दूर होगा कुंडली दोष, लक्ष्मी पूजन का भी है महत्व

हिंदू धर्म में अमावस्या भी काफी मायने रखती है. वहीं इस अमावस्या में मार्गशीर्ष महीने की अमावस्या का भी काफी महत्व माना जाता है. मार्गशीर्ष महीने में कृष्ण पक्ष की अमावस्या को मार्गशीर्ष अमावस्या कहा जाता है. इसे अगहन और पितृ अमावस्या के नाम से भी जाना जाता है. माता लक्ष्मी को प्रिय मार्गशीर्ष अमावस्या इस बार 7 दिसंबर को मनाई जाएगी.

मान्यता है कि इस महीने की अमावस्या का महत्व कार्तिक महीने में आने वाली अमावस्या से कम नहीं होता है. इस दिन मां लक्ष्मी के पूजन का काफी महत्व होता है. माना जाता है कि इस दिन लक्ष्मी पूजन और व्रत करने से पाप कट जाते हैं. साथ ही पितरों की पूजा करने के लिए भी मार्गशीर्ष अमावस्या को विशेष दिन माना जाता है. माना जाता है कि इस दिन पूजन और व्रत से पितृ दोष दूर किया जा सकता है और पितर प्रसन्न होते हैं.

वहीं इस अमावस्या को गंगा स्नान भी किया जाता है और साथ ही कुंडली के दोष दूर करने के लिए भी इस दिन व्रत रखा जाता है. वहीं अगर किसी को संतान की प्राप्ति नहीं हो रही है त उसके लिए भी मार्गशीर्ष अमावस्या के दिन व्रत करना काफी अहम माना जाता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi