S M L

Magh Purnima 2019: जानिए क्या है माघ पूर्णिमा का मुहूर्त और गंगा स्नान का महत्व

पुराणों के अनुसार, माघी पूर्णिमा के दिन भगवान विष्णु गंगाजल में निवास करते हैं. इसलिए इस पावन दिन गंगाजल का स्पर्श करने से भी स्वर्ग का सुख मिलता है

Updated On: Feb 19, 2019 10:26 AM IST

FP Staff

0
Magh Purnima 2019: जानिए क्या है माघ पूर्णिमा का मुहूर्त और गंगा स्नान का महत्व

19 फरवरी को माघ महीने की पूर्णिमा है. इसे माघी पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है. माघी पूर्णिमा के दिन से ही माघ महीना खत्म हो जाता है और फाल्गुन महीने की शुरुआत हो जाती है. इस दिन गंगा स्नान का काफी महत्व है. इसके साथ ही माघ मास की पूर्णिमा में जो व्यक्ति दान करता है, उसे ब्रह्मलोक की प्राप्ति होती है. यह त्योहार बहुत ही पवित्र त्योहार माना जाता हैं. इस दिन स्नान आदि से निवृत होकर भगवान विष्णु की पूजा की जाती है.

इस साल माघ पूर्णिमा के दिन कुंभ मेले भी हजारों की तादाद श्रद्धालु संगम सनान के लिए पहुंचे हैं.

पुराणों के अनुसार, माघी पूर्णिमा के दिन भगवान विष्णु गंगाजल में निवास करते हैं. इसलिए इस पावन दिन गंगाजल का स्पर्श करने से भी स्वर्ग का सुख मिलता है. कहते हैं कि भगवान विष्णु माघ पूर्णिमा के व्रत, उपवास, दान और ध्यान से उतने प्रसन्न नहीं होते, जितना माघ पूर्णिमा के स्नान से प्रसन्न होते हैं.

कलियुग में मनुष्यों को स्नान कर्म में शिथिलता रहती है, फिर भी माघी पूर्णिमा पर स्नान करने पर विशेष फल की प्राप्ति होती है.

जानिए क्या है मुहूर्त

माघी पूर्णिमा को एक मास का कल्पवास पूरा हो जाता है. इस दिन सत्यनारायण कथा और दान-पुण्य को अति फलदायी माना गया है. इस अवसर पर गंगा में स्नान करने से पाप और संताप का नाश होता है और मन और आत्मा को शुद्वता प्राप्त होती है. किसी भी व्यक्ति द्वारा इस दिन किया गया महास्नान समस्त रोगों को शांत करने वाला है. इस बार माघी पूर्णिमा 18 फरवरी रात 1.12 बजे शुरू हुई है जो 19 फरवरी को राज 9 बजकर 24 मिनट तक रहेगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi