S M L

Kartik Purnima 2018: त्रिपुरी पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है ये पर्व, जानिए क्या है इसका महत्व

कार्तिक पूर्णिमा के दिन गंगा स्नान करना काफी शुभ माना जाता है.

Updated On: Nov 22, 2018 08:20 PM IST

FP Staff

0
Kartik Purnima 2018: त्रिपुरी पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है ये पर्व, जानिए क्या है इसका महत्व

हिंदू धर्म में कार्तिक महीना त्योहार के लिहाज से काफी अहम माना जाता है. इस महीने में काफी त्योहार एक के बाद एक मनाए जाते हैं. वहीं हिंदू धर्म में पूर्णिमा का भी अपना एक अलग महत्व है. इसके साथ ही कार्तिक पूर्णिमा भी काफी मायने रखती है. इस साल कार्तिक पूर्णिमा 23 नवंबर को मनाई जाएगी. इस दिन गंगा स्नान करना काफी शुभ माना जाता है.

महत्व

मान्यता है कि इस दिन भक्त सभी देवी देवताओं को एक साथ प्रसन्न कर सकते हैं. इस विशेष मौके पर विधि-विधान से पूजा अर्चना करना न केवल पवित्र माना जाता है बल्कि इससे समृद्धि भी आती है. इसके साथ ही इससे सभी कष्ट दूर हो सकते हैं. इस दिन पूजा करने से कुंडली, धन और शनि दोनों के ही दोष दूर हो जाते हैं.

इसलिए कहा जाता है त्रिपुरी पूर्णिमा

मान्यताओं के मुताबिक इस दिन भगवान शिव ने त्रिपुरासुर नामक राक्षस का वध किया था और संसार को राक्षस के भय से मुक्त करवाया था. इस कारण इसे त्रिपुरी पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है. साथ इस वध के कारण भगवान शिव के त्रिपुरारी कहा जाने लगा. वहीं इस दिन पूजा करने के लिए बताया जाता है कि अपने हाथ-पांव धोकर आचमन (तांबे के विशेष पात्र से हथेली में जल लेकर ग्रहण करना और खुद पर जल छिड़क कर शुद्ध करने की प्रक्रिया) करके हाथ में कुशा लेकर स्नान किया जाता है. इसेक अलावा इस तिथि को गंगा दशहरा के नाम से भी जाना जाता है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi