S M L

आषाढ़ माह: जानिए क्यों खास है यह महीना, व्रत और त्यौहारों के महत्व

आषाढ़ माह पूरे एक माह तक चलेगा. 27 जुलाई को आषाढ़ पूर्णिमा के साथ आषाढ़ माह की समाप्ति हो जाएगी

Updated On: Jun 29, 2018 04:27 PM IST

FP Staff

0
आषाढ़ माह: जानिए क्यों खास है यह महीना, व्रत और त्यौहारों के महत्व
Loading...

आषाढ़ माह की शुरुआत आज (शुक्रवार) से हो गई है. हिंदू कैलेंडर के अनुसार यह हिंदू साल का चौथा महीना होता है. आषाढ़ के महीने से वर्षा ऋतु शुरू हो जाती है.

अगर अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार देखें तो अक्सर जून या जुलाई महीने में आषाढ़ के महीने की शुरुआत होती है. आषाढ़ माह पूरे एक माह तक चलेगा. 27 जुलाई को आषाढ़ पूर्णिमा के साथ आषाढ़ माह की समाप्ति हो जाएगी.

आषाढ़ का महीना बहुत पवित्र माना जाता है. हिंदू पंचांग में सभी महीनों के नाम नक्षत्रों के नाम पर रखे गए हैं. आषाढ़ महीने का नाम भी पूर्वाषाढ़ा और उत्तराषाढ़ा नक्षत्रों पर आधारित हैं. आषाढ़ महीने में हिंदू धर्म में कई व्रत व त्यौहारों मनाए जाते हैं आइए जानते हैं आषाढ़ महीने में मनाए जाने वाले व्रत और त्यौहारों के बारे में और उनके महत्व.

आषाढ़ माह के व्रत व त्यौहार

योगिनी एकादशी – योगिनी एकादशी आषाढ़ मास के कृष्ण पक्ष को मनाई जाएगी. अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार यह योगिनी एकादशी 9 जुलाई को है. यह एकादशी बहुत ही शुभ मानी जाती है. एकादशी व्रत में भगवान विष्णु की पूजा की जाती है.

bhagvaan vishnu 1

आषाढ़ अमावस्या- 13 जुलाई को आषाढ़ मास की अमावस्या है. यह तिथि बहुत ही पवित्र मानी जाती है. अमावस्या के दिन स्नान, दान-पुण्य, पितृ कर्म करने पर पुण्य फल की प्राप्ति होती है. यह दिन बहुत ही सौभाग्यशाली होता है. कालसर्प दोष एवं शनि संबंधी दोषों के निवारण शनि अमावस्या पर जा सकते हैं.

amavasya

गुप्त नवरात्रि – आषाढ़ माह में गुप्त नवरात्र 13 जुलाई से शुरु होंगे. हिंदू कैलेंडर के अनुसार प्रत्येक वर्ष में चार नवरात्रि होते हैं. आषाढ़ व आश्विन माह के बाद माघ माह में भी शुक्ल पक्ष से नवरात्रि शुरु होते हैं लेकिन इन्हें गुप्त नवरात्र कहा जाता है.

navratri

जगन्नाथ यात्रा – 14 जुलाई को विश्वप्रसिद्ध जगन्नाथ रथ यात्रा निकली जाएगी. यह रथ यात्रा आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की द्वितीया से भगवान जगन्नाथ की यात्रा निकाली जाती है. इसमें भगवान श्री कृष्ण, माता सुभद्रा व बलराम का पुष्य नक्षत्र में रथोत्सव निकाला जाता है. इस रथयात्रा में भगवान जगन्नाथ को मानने वाले भक्त विश्व भर से इसमें शामिल होते हैं.

jaggannath yatra

आषाढ़ और गुरु पूर्णिमा- अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार 27 जुलाई को आषाढ़ पूर्णिमा है. आषाढ़ पूर्णिमा का दिन बहुत ही खास होता है. इसके अलावा इस दिन को गुरु पूर्णिमा, व्यास पूर्णिमा आदि के रूप में भी मनाया जाता है. जिसमें गुरु की पूजा की जाती है.

guru purnima

देवशयनी एकादशी- साल में कुल 24 एकादशी होती है जिसमें देवशयनी एकादशी बहुत ही खास एकादशी होती है. इस एकादशी पर सभी मांगलिक कार्यक्रमों पर विराम लग जाता है. दरअसल भगवान विष्णु इस दिन से चतुर्मास के लिये विश्राम करने क्षीर सागर में चले जाते हैं और देवउठनी एकादशी को ही जागते हैं. आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी देवशयनी एकादशी कही जाती है. देवशयनी एकदशी 23 जुलाई 2018 है.

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi