S M L

Easter 2018: मृत्यु के शोक पर जीवन के उत्सव का दिन है ईस्टर

ईसाई मान्यता से अलग ईस्टर किसानों का त्योहार माना जाता है

Updated On: Mar 31, 2018 05:27 PM IST

FP Staff

0
Easter 2018: मृत्यु के शोक पर जीवन के उत्सव का दिन है ईस्टर

ईस्टर संडे 2018: ईस्टर ईसाइयों के सबसे खास दिनों में से एक है. दुनिया भर में क्रिश्चियन्स इस दिन को खुशी से मनाते हैं. गुड फ्राइडे के दिन ईसा मसीह को क्रॉस पर लटकाया गया था. मान्यता है कि इसके तीन दिन बाद जीज़स पुनःजीवित हुए थे. इसी दिन को ईस्टर की तरह मनाते हैं. मानते हैं कि जीज़स ने दुनिया के पापों की कीमत चुकाने के लिए ये दुख सहन किया था.

Happy Easter 2018 (1)

हालांकि ईसाइयत से अलग ईस्टर को अप्रैल के महीने में नई फसल के त्योहार की तरह भी मनाया जाता है. 'ईस्टर' शब्द जर्मन के 'ईओस्टर' शब्द से लिया गया, जिसका अर्थ है 'देवी'. इसे किसानों का त्योहार भी मानते हैं. ईस्टर 21 मार्च के बाद की पूर्णिमा के बाद पड़ने वाले पहले रविवार को मनाया जाता है. मानते हैं कि ईस्टर के बाद चालीस दिनों तक अपने शिष्यों के बीच जाते रहे और उन्हें प्रोत्साहित करते रहे, उपदेश देते रहे कि, 'तुम्हें शांति मिले.' इससे उनमें साहस और विश्वास जगा और निर्भय होकर उन्होंने ईसा के पुनः जीवित होने का संदेश दिया.

Happy Easter 2018

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi