S M L

हनुमान जयंती 2018: ग्रहों की पीड़ा शांत करनी हो तो करें ये उपाय

ऐसा योग 9 साल बाद बना है जब हनुमान जयंती शनिवार को पड़ी है. ज्योतिष विधि-विधान से भी आज का दिन काफी शुभ है, मंगल और शनि धनु राशि में विराजमान हैं

FP Staff Updated On: Mar 31, 2018 10:43 AM IST

0
हनुमान जयंती 2018: ग्रहों की पीड़ा शांत करनी हो तो करें ये उपाय

आज राम भक्त हनुमान जी का जन्मोत्सव है. धार्मिक दृष्टि से यह दिन इसलिए भी खास है क्योंकि हनुमान जयंती शनिवार को पड़ी है. ऐसा योग 9 साल बाद बना है जब शनिवार को हनुमान जी का जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया जा रहा है.

ज्योतिष विधि-विधान से भी आज का दिन काफी शुभ है. शनिवार को यानी हनुमान जयंती के दिन ही मंगल और शनि धनु राशि में विराजमान हैं.

संयोग से शनि और मंगल का विशेष द्विग्रही योग भी बन रहा है. हस्त नक्षत्र भी है. चूंकि इस नवसंवत्सर के राजा सूर्य और मंत्री शनि हैं, इसलिए भक्तों और श्रद्धालुओं के लिए हनुमान जयंती खास बन गई है. लोगों को अगर ग्रहों की पीड़ा शांत करनी है तो इससे खास अवसर कोई और नहीं हो सकता.

पूजा का शुभ मुहूर्त

30 मार्च शुक्रवार को शाम 7 बजकर 36 मिनट 38 सेकेंड से पूर्णिमा शुरू हो गई है जो 31 मार्च शनिवार को शाम 6 बजकर 8 मिनट 29 सेकेंड तक रहेगी. इस दौरान हनुमान जी की पूजा-अर्चना काफी शुभ मानी जाएगी. भक्त अपनी मुराद पूरी करने के लिए संपूर्ण विधि-विधान से बजरंग बली की पूजा करें.

चंद्रमा की उदय तिथि 31 को होने के कारण पूर्णिमा 31 को ही मनाई जाएगी और उसी दिन पूरी रात और पूरा दिन श्री हनुमान जयंती मनाई जाएगी. 31 मार्च की रात को पूजा का विशेष महत्व है क्योंकि चैत्र पूर्णिमा की रात में ही हनुमान जयंती मनाने का विधान है.

फोटो रॉयटर से

(फोटो: रॉयटर)

इन मंत्रों का करें जाप

हनुमान जी भक्तों के भय का नाश करने वाले देवता हैं. तभी मुश्किल पड़ने पर भक्तजन पूरे श्रद्धा भाव से उनका मंत्र ॐ हं हनुमते नम: जपते हैं. इस मंत्र के साथ ही भगवान हनुमान सर्व बाधाओं से मुक्ति दिला देते हैं. उनका द्वादशाक्षर हनुमान मंत्र है- ॐ हं हनुमते रुद्रात्मकाय हुं फट. भक्तजन इस मंत्र का जाप कर सुख-शांति पाने की कामना करते हैं. साथ ही मनोकामना पूरी करने के लिए एक खास मंत्र है- महाबलाय वीराय चिरंजिवीन उद्दते. हारिणे वज्र देहाय चोलंग्घितमहाव्यये.

अगर अपने शत्रुओं और रोगों से छुटाकार पाना हो तो आप भी इस मंत्र- ॐ नमो हनुमते रुद्रावताराय सर्वशत्रुसंहारणाय सर्वरोग हराय सर्ववशीकरणाय रामदूताय स्वाहा का जाप कर सकते हैं. कभी अपने को संकट में पाते हों तो इसके लिए-ॐ नमो हनुमते रुद्रावताराय सर्वशत्रुसंहारणाय सर्वरोग हराय सर्ववशीकरणाय रामदूताय स्वाहा का जाप करें. इन जापों से हनुमान जी आपको हर प्रकार के संकटों से मुक्ति दिलाएंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
International Yoga Day 2018 पर सुनिए Natasha Noel की कविता, I Breathe

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi