S M L

गुरु पूर्णिमा 2018: क्या है इसका महत्व, इस दिन गोवर्धन पर्वत की परिक्रमा क्यों लगाते हैं?

गुरु पूर्णिमा के त्‍योहार के दिन लाखों श्रद्धालु ब्रज में स्थित गोवर्धन पर्वत की परिक्रमा करते हैं

Updated On: Jul 23, 2018 04:45 PM IST

FP Staff

0
गुरु पूर्णिमा 2018: क्या है इसका महत्व, इस दिन गोवर्धन पर्वत की परिक्रमा क्यों लगाते हैं?

गुरु पूर्णिमा आषाढ़ शुक्ल की पूर्णिमा को कह जाता है. इस दिन ज्ञान देने वाले गुरु की पूजा की जाती है. हिंदू धर्म में इस दिन का बहुत महत्व है. इस महीने गुरु पूर्णिमा 27 जुलाई 2018 यानी शुक्रवार को पड़ रही है.

हिंदू धर्म में हम महीने होने वाली पूर्णिमा का एक अलग महत्व है, लेकिन गुरु पूर्णिमा को बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है. अज्ञानी और अन्धकार में भटक रहे शिष्यों को सही मार्ग पर लाने वाले व्यक्ति को ही गुरु का पद प्रदान किया गया है.

बच्‍चे को जन्म भले ही माता-पिता देते हो पर जीवन का अर्थ और सार समझाने का कार्य गुरु ही करता है. उसे जीवन की कठिन राह पर मजबूती से खड़े रहने की हिम्‍मत एक गुरु ही देता है. हिंदू परंपरा में गुरु को गोविंद से भी ऊंचा माना गया है, इसलिए यह दिन गुरु की पूजा का विशेष दिन है.

पूर्णिमा को गोवर्धन पर्वत की परिक्रमा

गुरु पूर्णिमा के त्‍योहार के दिन लाखों श्रद्धालु ब्रज में स्थित गोवर्धन पर्वत की परिक्रमा करते हैं. ऐसा कहा जाता है कि इस‍ दिन बंगाली साधु सिर मुंडाकर गोवर्धन पर्वत की परिक्रमा करते हैं, ब्रज में इसे मुड़िया पूनों नाम से जाना जाता है.

सनातनी परंपरा के अनुसार इस दिन से चार माह तक साधु-संत एक ही स्थान पर रहकर ज्ञान की गंगा बहाते हैं. इसलिए ये चार महीने अध्ययन के लिए उपयुक्त माने जाते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi