S M L

Gupt Navratri 2019: जानिए क्या है गुप्त नवरात्र का रहस्य और पूजा विधि

Gupt Navratri 2019: इस साल का पहला गुप्त नवरात्र 5 फरवरी से शुरू हो गया है जो 14 फरवरी तक चलेंगे

Updated On: Feb 06, 2019 10:47 AM IST

FP Staff

0
Gupt Navratri 2019: जानिए क्या है गुप्त नवरात्र का रहस्य और पूजा विधि

हिंदू धर्म में हर साल दो बार नवरात्रि का त्योहार मनाया जाता है. पहला शारदीय और दूसरा चैत्र नवरात्र, लेकिन इन दो नवरात्रों के अलावा भी दो गुप्त नवरात्र और भी हैं जिनका धर्मग्रंथों में जिक्र है. इनमें से पहला गुप्त नवरात्र माघ महीने के शुक्ल पक्ष में और दूसरा आषाढ़ महीने के शुक्ल पक्ष में मनाया जाता है. इस साल का पहला गुप्त नवरात्र जो माघ महीने में पढ़ता है, 5 फरवरी से शुरू हो गया है. ये नवरात्र 14 फरवरी तक चलेंगे.

क्यों कहते हैं गुप्त नवरात्र

इस नवरात्र में मां भगवती के गुप्त स्वरूप की पूजा की जाती है, इसलिए इसे गुप्त नवरात्र कहा जाता है. तंत्र विद्दा पर विश्वास रखने वाले लोगों के लिए भी ये नवरात्र काफी महत्वपूर्ण होते हैं.

क्या है पूजा विधि

शारदीय और चैत्र नवरात्रि की तरह ही गुप्त नवरात्र में भी कलश की स्थापना होती है. फिर 9 दिनों तक व्रत का संकल्प लिया जाता है. इसके बाद 9 दिनों तक विधि विधान से मां भगवती के 9 रूपों की जाती है और फिर अष्टमी या नवमी को कन्या पूजन के साथ पूजा समाप्त की जाती है. गुप्त नवरात्रि के दौरान तंत्र साधना पर विश्वास करने वाले मां भगवती के 9 रूपों की पूजा करने के बजाए 10 महाविद्याओं की साधना करते हैं. इन महाविद्याओं में मां काली, तारा देवी, त्रिपुर सुंदरी, त्रिपुर भैरवी जैसी देवियां शामिल हैं.

नवरात्र के 9 दिनों में दुर्गा के किन रूपों की पूजा होती है?

नवरात्र का अर्थ है ‘नौ रातों का समूह’. इसमें हर एक दिन दुर्गा मां के अलग-अलग रूपों की पूजा होती है. नवरात्र के नौ दिनों में एक-एक दिन मां शैलपुत्री, मां ब्रह्मचारिणी, मां चन्द्रघंटा, मां कूष्मांडा, मां स्कंदमाता, मां कात्यायनी, मां कालरात्रि, मां महागौरी, मां सिद्धदात्री की पूजा की जाती है. शक्तिस्वरूपा मां दुर्गा की आराधना महिलाओं के अदम्य साहस, धैर्य और स्वयंसिद्धा व्यक्तित्व को समर्पित है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi