विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

देवोत्थान एकादशी 2017: 4 महीने बाद फिर शुरू होंगे शादी के कार्यक्रम, जानिए क्या है शुभ मुहूर्त

इस दिन के बाद से ही शादियों का मौसम फिर से शुरू हो जाएगा जो कि पिछले 4 महीनों से बंद था

FP Staff Updated On: Oct 31, 2017 09:27 AM IST

0
देवोत्थान एकादशी 2017: 4 महीने बाद फिर शुरू होंगे शादी के कार्यक्रम, जानिए क्या है शुभ मुहूर्त

पूरे साल 24 एकादशी होती है. हर महीने दो एकादशी पड़ती है, एक शुक्ल पक्ष में तो दूसरी कृष्ण पक्ष में. सभी एकादशी में कार्तिक शुक्ल एकादशी का विशेष महत्व होता है.

इसे देवप्रबोधनी एकादशी या देव उठानी एकादशी के नाम से भी जाना जाता है.

क्या है मान्यता?

इस दिन भगवान विष्णु चार महीने के बाद जागते हैं.तुलसी के पौधे से उनका विवाह होता है. देवउठनी एकादशी को तुलसी विवाह उत्सव भी कहा जाता है. देवउठनी एकादशी के बाद सभी तरह के शुभ कार्य शुरू हो जाते हैं, लेकिन इस बार देव जागने के 18 दिन बाद भी कोई वैवाहिक और अन्य मांगलिक कार्यों के लिए शुभ मुहूर्त नहीं है.

क्या है पूजा करने की विधि

तुलसी विवाह के दिन एकादशी का व्रत रखा जाता है. इस दिन तुलसी जी के साथ विष्णु की मूर्ति रखी जाती है। विष्णु की मूर्ति को पीले वस्त्र से सजाया जाता है. तुलसी के पौधे को सजाकर उसके चारों तरफ गन्ने का मंडप बनाया जाता है.तुलसी जी के पौधे पर चुनरी चढ़ाकर विवाह के रिवाज होते है.

क्या है महत्व?

- ये त्योहार धर्म, अर्थ, काम, मोक्ष के लिए किया जाता है.

- पूजन के अंत में ‘ऊं भूत वर्तमान समस्त पाप निवृत्तय-निवृत्तय फट्’ मंत्र की 21 माला जाप कर अग्नि में शुद्ध घी की 108 आहुतियां अवश्य देनी चाहिए. इससे जीवन के सारे रोगों, कष्टों व चिंताओं से मुक्ति मिल जाती है. जीवन में कल्याण ही कल्याण होगा.

- देवोत्थान एकादशी व्रत का फल एक हजार अश्वमेघ यज्ञ और सौ राजसूय यज्ञ के बराबर होता है. इस दिन पवित्र नदियों में स्नान व भगवान विष्णु के पूजन का विशेष महत्व है.

इस दिन क्या करें

- घर और मंदिर में गन्ने का मंडप बनाए.

- लक्ष्मीनारायण का पूजन करें.

- उन्हें बेर, आंवला सहित अन्‍य मौसमी फल का भोग भी लगाएं.

ये हैं साल 2017 में विवाह के शुभ मुहूर्त 

नवंबर में 11,12, 13, 14, 19, 23, 24, 25, 28, 29, 30 तारीख को विवाह मुहूर्त बन रहे हैं

दिसंबर में 1, 3, 4, 9, 10, 11 तारीख को विवाह मुहूर्त बन रहे हैं.

ये हैं साल में 2018 में विवाह के शुभ मुहूर्त 

फरवरी में 6,18, 19, 20, 21 को विवाह मुहूर्त बन रहे हैं.

मार्च में  2, 3, 5, 6, 7, 8,12 को विवाह मुहूर्त बन रहे हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi