live
S M L

जानें कौन है 100 हेक्टेयर जंगल की रक्षा करने वाली ये 'शेरनी'

जंगल में चलकर दूर-दूर तक वन की रक्षा करना शेरनी का रोजाना की दैनिक क्रिया है

Updated On: Aug 08, 2017 06:23 PM IST

FP Staff

0
जानें कौन है 100 हेक्टेयर जंगल की रक्षा करने वाली ये 'शेरनी'

झारखंड के पूर्वी सिंहभूम के मुसाबनी पहाड़ी इलाके के सड़कघुटू गांव की रहने वाली आदिवासी युवती इन दिनों शेरनी के नाम से चर्चा में हैं. घाटशिला के मुसाबनी सड़कघुटू गांव की रहने वाली कांदोनी सोरेन गांव की महिलाओं के साथ पहाड़ी इलाके के करीबन 100 हेक्टयर जंगल की रक्षा कर रही है. कांदोनी की शारीरिक क्षमता भी इस तरह है कि लोग उसे जंगल की शेरनी कहते हैं.

तेज गति से जंगल में चलकर दूर-दूर तक वन की रक्षा करना शेरनी का रोजाना की दैनिक क्रिया है. शुरुआत में तो कांदोनी को कई जंगल के पत्थर और लकड़ी माफियाओं की धमकी मिली, लेकिन अपनी जान की परवाह किए बिना ही कांदोनी सोरेन ने आस-पास के गावों की महिलाओं को मिलाकर वन रक्षा समिति बन कर जंगल की पहरेदारी करने लगी.

कांदोनी सोरेन ने सबसे पहले अपने गांव में हरियाली सकाम नाम से वन रक्षा समिति बनाई गई थी. हरियाली सकाम का मतलब होता है हरा पत्ता. जंगल में हरियाली रहे इसलिए इसका नाम ऐसा दिया.

पहाड़ी इलाके होने के कारण कांदोनी सोरेन को सरकार से कोई खास मदद नहीं मिलती है लेकिन कांदोनी को इस बात को कोई अफसोस भी नहीं है. वन विभाग से जो मदद मिल जाता है, उसे ही वो ज्यादा समझती है.

(न्यूज़ 18 से साभार प्रभाजन कुमार की रिपोर्ट)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi