विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

अफगानिस्तान संकट का सैन्य रणनीति से समाधान नहीं : अमेरिका

विदेश विभाग की यह प्रतिक्रिया ट्रंप प्रशासन की ओर से अफगान युद्ध की रणनीति की समीक्षा से पहले आई है

Bhasha Updated On: Jul 26, 2017 01:43 PM IST

0
अफगानिस्तान संकट का सैन्य रणनीति से समाधान नहीं : अमेरिका

अमेरिका के विदेश विभाग ने अफगानिस्तान में सैनिक कार्रवाई से अपेक्षित परिणाम और संघर्ष का स्थायी हल निकलने को लेकर संदेह जताया है. हालांकि उसने संभावना जताई कि इस पर तालिबान और दूसरे गुटों के साथ शांति वार्ता के जरिए काबू पाया जा सकता है.

अमेरिका के विदेश विभाग की यह प्रतिक्रिया ट्रंप प्रशासन की ओर से अफगान युद्ध की रणनीति की समीक्षा से पहले आई है.

सोमवार को अमेरिका के शीर्ष सांसदों ने इस क्षेत्र में आतंकवादियों से लड़ने के लिए एक ‘प्रभावशाली’ रणनीति की कमी के कारण प्रशासन की आलोचना की. सशस्त्र सेवा समिति के अध्यक्ष और सीनेटर जॉन मैक्केन ने कहा, ‘यह बहुत ‘शर्मनाक’ है कि अमेरिका के पास अफगानिस्तान में संघर्ष खत्म करने के लिए कोई रणनीति नहीं है.’

अफगानिस्तान एक दशक से अधिक समय से हिंसा और विद्रोह से जूझ रहा है. पिछले कुछ समय के दौरान यहां की पश्चिम समर्थित सरकार के खिलाफ तालिबान विद्रोह में बढ़ोतरी हुई है. दो दिन पहले, काबुल में तालिबान द्वारा किए गए एक आत्मघाती हमले में 26 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी. पिछले दो महीने के दौरान यहां हुआ यह तीसरा बड़ा हमला था.

अमेरिकी विदेश विभाग की प्रवक्ता हीदर नौर्ट ने कहा कि विदेश सचिव रेक्स टिलरसन शांति प्रक्रिया जारी रखने के बारे में बहुत ‘सख्ती से विचार’ कर रहे हैं.

नौर्ट ने मंगलवार को मीडिया से कहा, ‘अंतिम तौर पर, जैसा कि कई अन्य देशों में कई स्थितियों में होता है कि सैन्य विकल्प या सैन्य रणनीति उन देशों को जीतने और फिर से शांति स्थापना के लिए जरूरी नहीं होती. अंत में आपको दोनों पक्षों और कई बार अनेक पक्षों को उनका भविष्य तय करने के लिए बातचीत की खातिर राजी करना होता है.

उन्होंने कहा, ‘लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि सैन्य अभियान रोक दिया जाये. निश्चत रूप से सैन्य अभियान भी इसका ही एक हिस्सा है.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi