S M L

अंतरराष्ट्रीय उड़ानों में लैपटॉप लाने-ले जाने पर प्रतिबंध लगाने पर विचार: जॉन केली

केली ने कहा कि आतंकवादी 'उड़ान भर रहे विमान, विशेष रूप से अमेरिकी विमान, को मार गिराने की फिराक में हैं

FP Staff | Published On: May 28, 2017 11:19 PM IST | Updated On: May 28, 2017 11:19 PM IST

0
अंतरराष्ट्रीय उड़ानों में लैपटॉप लाने-ले जाने पर प्रतिबंध लगाने पर विचार: जॉन केली

अमेरिका के आंतरिक सुरक्षा मंत्री जॉन केली ने देश की सुरक्षा के लिए कुछ अहम कदम उठा सकते हैं.

उन्होंने रविवार को कहा कि 'वास्तविक खतरे की आशंका' के मद्देनजर वो देश में आने वाली और वहां से जाने वाली अंतरराष्ट्रीय उड़ानों में लैपटॉप लाने-ले जाने पर प्रतिबंध लगाने पर विचार कर रहे हैं.

एक सवाल के जवाब में केली ने कहा, 'वास्तविक खतरा है. उड़ानों के खिलाफ कई खतरे हैं.' केली ने कहा कि आतंकवादी 'उड़ान भर रहे विमान, विशेष रूप से अमेरिकी विमान, को मार गिराने की फिराक में हैं.'

इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस में बारूद भरकर धमाके

केली ने ये बयान मेमोरियल डे वीकेंड पर दिया. ये बयान ऐसे समय पर आया है. जब मैंचेस्टर में एक कॉन्सर्ट के दौरान धमाके हुए हैं और ब्रिटेन ने इस बात पर चिंता जाहिर की है कि आगे इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस में बारूद भरकर धमाके किए जा सकते हैं.

A man uses his laptop to test a new high speed inflight Internet service named Fli-Fi while on a special JetBlue media flight out of John F. Kennedy International Airport in New York December 11, 2013. Wi-Fi in the sky is taking off, promising much better connections for travelers and a bonanza for the companies that sell the systems. With satellite-based Wi-Fi, Internet speeds on jetliners are getting lightning fast. And airlines are finding that travelers expect connections in the air to rival those on the ground - and at lower cost. Picture taken December 11, 2013. To match Analysis AIRLINES-WIFI/ REUTERS/Lucas Jackson (UNITED STATES - Tags: TRANSPORT BUSINESS SCIENCE TECHNOLOGY TELECOMS TRAVEL) - RTR3L52D

प्रतिबंध लगने से यूरोप और अमेरिका के बीच उड़ानों पर काफी असर पड़ेगा. विमानन इंडस्ट्री के आंकड़ों के मुताबिक एक हफ्ते में यूरोपी संघ और अमेरिका के बीच करीब 3,250 उड़ाने भरी जाएंगी.

कौन कौन से देश होंगे प्रभावित?

अगर केली के लैपटॉप बैन पर अमल होता है तो स्मार्टफोन से बड़ी सभी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइज पर प्रतिबंध लग जाएंगे. इसमें मध्य पूर्व और उत्तर अफ्रीका के 10 एयरपोर्ट से उड़ान भरने वाली हवाई जहाजों पर ये लागू होगा.

इस नियम से जो देश प्रभावित होंगे उनमें से तुर्की, जॉर्डन, मिस्र, सऊदी अरब, कुवैत, कतर, यूएई और मोरक्को शामिल होंगे.

न्यूज़ 18 साभार

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi