S M L

स्नैपचैट ने भारत को बताया ‘गरीब’, ट्विटर पर भड़के लोग

भारत में स्नैपचैट के करीब 40 लाख से ज्यादा यूजर्स हैं

FP Staff Updated On: Apr 16, 2017 12:09 PM IST

0
स्नैपचैट ने भारत को बताया ‘गरीब’, ट्विटर पर भड़के लोग

फोटो शेयरिंग मोबाइल सेवा और मल्टीमीडिया मोबाइल ऐप स्नैपचैट के CEO इवान स्पीगल ने भारत को एक गरीब देश बताया है. इवान स्पीगल का कहना है कि वो भारत को अपने कारोबार के लिए बड़ा बाजार नहीं मानते हैं, इसलिए वो भारत या स्पेन जैसे गरीब देशों में अपने कारोबार को बढ़ाने के बारे में नहीं सोचते हैं. रिपोर्ट की मानें तो भारत में स्नैपचैट के करीब 40 लाख से ज्यादा यूजर्स हैं.

ये बात तब सामने आई जब एंथोनी पांप्लिआना नाम के कर्मचारी ने LA डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में स्नैपचैट के खिलाफ मुकदमा दायर किया. एंथोनी का कहना है कि स्पीगल ने 2015 में स्नैपचैट की ग्रोथ बढ़ा चढ़ा कर पेश की थी. एंथनी ने आरोप लगाया है कि 2015 में स्नैपचैट का आईपीओ आने से पहले कंपनी की ग्रोथ के बारे में कई गलत जानकारियां दी गई थी. आईपीओ के लेकर हुई बैठक में ही स्पीगल ने भारत और स्पेन को गरीब देश बताया था.

दरअसल उस बैठक में एंथनी ने जब भारत में इंटरनेट की तेज पहुंच पर भी ऐप की स्लो ग्रोथ पर सवाल किया तो इवान ने उन्हें रोकते हुए कहा कि यह ऐप सिर्फ अमीर लोगों के लिए है, भारत जैसे गरीब देश के लिए नहीं. बाद में एंथोनी को असंतुष्ट कर्मचारी कह कर कंपनी से निकाल दिया गया.

भारत को लेकर ऐसे बयान के बाद कई लोगों ने नाराजगी जाहिर की.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi