S M L

हिंसा के बीच म्यांमार से भाग रहे 16 रोहिंग्या डूबे, ज्यादातर बच्चे शामिल

म्यांमार में हो रही हिंसा के बीच हजारों रोहिंग्या देश छोड़ कर भाग रहे हैं

Bhasha Updated On: Aug 31, 2017 05:33 PM IST

0
हिंसा के बीच म्यांमार से भाग रहे 16 रोहिंग्या डूबे, ज्यादातर बच्चे शामिल

म्यांमार में हिंसा के बाद जान बचा कर भाग रहे रोहिंग्या मुसलामानों की नाव पलट जाने से उसमे सवार 16 लोगों की मौत हो गई.

बांग्लादेश के तटरक्षकों ने गुरुवार को 16 लाश बरामद किए हैं जिनमें से ज्यादातर बच्चे हैं. म्यांमार में हिंसा की बढ़ती घटनाओं के कारण कम से कम 18,500 रोहिंग्या देश छोड़कर सीमा पार शरण लेने के लिए मजबूर हुए हैं.

बांग्लादेश में अधिकारियों ने कहा कि बड़ी संख्या में रोहिंग्या समुदाय के लोगों ने दोनों देशों को अलग करने वाली नाफ नदी को अपनी जर्जर नौकाओं से पार करने की कोशिश की लेकिन इसमें सफल नहीं हो पाए और जान से हाथ धो बैठे हैं.

इंटरनेशनल ऑर्गेनाइजेशन फॉर माइग्रेशन ने बुधवार को कहा कि म्यांमार के राखिने प्रांत में छह दिन पहले शुरू हुई लड़ाई के बाद से कम से कम 18,500 रोहिंग्या मुसलमानों ने बांग्लादेश की सीमा में दाखिल हुए हैं. लेकिन इनमें से कुछ यहां पहुंच नहीं पाए.

बुधवार को दो रोहिंग्या महिलाओं और दो बच्चों के लाश बहकर बांग्लादेश आ गए थे.

रोहिंग्याओं को नहीं आने देंगे :बांग्लादेश

गुरुवार को एक स्थानीय अधिकारी नूरुल अमीन रोहिंग्या ने बताया कि एक अन्य नौका के डूब जाने के कारण 16 लोगों की मौत हो गई.

उन्होंने कहा, 'हमने 16 लाश बरामद किए हैं जो सुबह तट पर बहकर आए थे.' एक तटरक्षक अधिकारी ने नाम नहीं बताने की शर्त पर बताया कि प्रवासी 'मछली पकड़ने वाली जर्जर नौकाओं' में यात्रा कर रहे थे जो समुद्र के तेज बहाव के लिए काफी नहीं होती है.

बांग्लादेश में पहले से इस समुदाय के 400,000 लोग रह रहे हैं. वहीं ढ़ाका ने साफ कर दिया है कि वह नहीं चाहता कि अब और लोग वहां आए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi