S M L

भारतीय मूल की शॉना पांड्या के स्पेस यात्रा की खबरें झूठी

शॉना पांड्या ने सिटिजन साइंस एस्ट्रोनॉट प्रोग्राम के टॉप स्कोर हासिल किया था.

FP Staff | Published On: Feb 10, 2017 09:47 AM IST | Updated On: Feb 10, 2017 04:16 PM IST

0
भारतीय मूल की शॉना पांड्या के स्पेस यात्रा की खबरें झूठी

नासा के सिटिजन साइंस एस्ट्रोनॉट प्रोग्राम के लिए एक भारतीय मूल की शॉना पांड्या ने इन खबरों का खंडन किया है. शॉना ने खुद के किसी भी नासा के स्पेस मिशन-2018 से जुड़े होने से इनकार किया है.

शॉना ने अपने फेसबुक अकाउंट पर लिखा है, 'मैं पिछले 24 घंटों में कुछ इंटरव्यू और मीडिया रिपोर्ट्स आने के बाद मैं अपने काम और योग्यता को लेकर कुछ स्पष्टीकरण देना चाहती हूं. मैं सिटिजन साइंस एस्ट्रोनॉट प्रोग्राम में स्पेस ट्रैवलिंग के लिए नहीं चुनी गई हूं. मैं एक समर्पित और मेहनती टीम मेंबर हूं.'

अपने काम को लेकर शॉना ने बताया है, 'मेरा काम कनाडियन स्पेस एजेंसी और नासा से अलग है. कनाडियन स्पेस एजेंसी एस्ट्रोनॉट सेलेक्शन अभी चल रहा है. मैं इस सेलेक्शन का हिस्सा नहीं हूं.'

यहां तक कि शॉना ने ये साफ किया है कि वो न्यूरोसर्जन नहीं जनरल फिजिशियन हैं. साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि वो ऑपेरा सिंगर नहीं हैं. न हीं वो ताइक्वांडो की चैंपियन हैं.

खबरें आ रही थीं कि भारतीय मूल की शॉना पांड्या जल्द ही स्पेस में जाने वाली तीसरी भारतीय महिला बनने वाली है. कहा जा रहा था कि शॉना नासा के स्पेस मिशन-2018 के प्रोगाम सिटिजन साइंस एस्ट्रोनॉट (CSA) के तहत स्पेस यात्रा करेंगी.

स्क्रॉल.इन ने बताया था कि शॉना इस प्रोगाम के लिए 3,200 लोगों में से चुने गए 2 लोगों में से हैं. उन्हें सीएसए प्रोग्राम में टॉप स्कोर हासिल करने के बाद चुना गया.

शॉना ने सबसे पहले एल्बर्टा यूनिवर्सिटी से न्यूरोसाइंस में बीएससी करने के बाद इंटरनेशनल स्पेस यूनिवर्सिटी से अपनी एमएससी की डिग्री ली. इसके बाद एल्बर्टा यूनिवर्सिटी से ही उन्होंने एमडी इन मेडिसिन पूरा किया. इस सबके बाद शॉना ने मेडिकल स्कूल और स्पेस प्रोग्राम के लिए एक साथ ही आवेदन किया.

एल्बर्टा यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल की जनरल फिजिशियन शॉना मूल रूप से मुंबई की हैं. उनकी दादी फिलहाल मुंबई के महालक्ष्मी एरिया में रहती हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi