S M L

परवेज मुशर्रफ ने हाफिज सईद की रिहाई की मांग की

मुशर्रफ का दावा है कि हाफिज सईद का संगठन ‘एक अच्छा एनजीओ’ है, जो राहत कार्यों में मदद करता है

Bhasha | Published On: Feb 16, 2017 07:55 PM IST | Updated On: Feb 16, 2017 07:55 PM IST

परवेज मुशर्रफ ने हाफिज सईद की रिहाई की मांग की

पाकिस्तान के पूर्व तानाशाह जनरल परवेज मुशर्रफ ने घर में नजरबंद जमात-उद-दावा प्रमुख हाफिज सईद की रिहाई की मांग की है.

मुशर्रफ ने दावा किया कि मुंबई हमले के मास्टरमाइंड का संगठन ‘एक अच्छा एनजीओ’ है जो राहत कार्यों में मदद करता है.

मुशर्रफ ने कहा, ‘हाफिज सईद को निश्चित रूप से रिहा किया जाना चाहिये. वो आतंकवादी नहीं है, वो एक बहुत अच्छा एनजीओ चला रहे हैं. वो पाकिस्तान में भूकंप और बाढ़ के बाद राहत कार्यों में योगदान दे रहे हैं. वे बड़े कल्याण संगठनों का संचालन कर रहे हैं’.

पाकिस्तान के अखबार डॉन की एक रिपोर्ट के मुताबिक पूर्व तानाशाह परवेज मुशर्रफ ने कहा, ‘मेरे विचार में वो तालिबान के खिलाफ हैं, उन्होंने पाकिस्तान या दुनिया में कहीं भी कोई आतंकवादी घटना को अंजाम नहीं दिया. इसलिए उनके साथ अलग तरीके से व्यवहार करना चाहिये’.

सरकार ने पिछले महीने सईद को एग्जिट कंट्रोल लिस्ट में शामिल किया था और उसे देश छोड़ने से रोक दिया. उसे शांति और सुरक्षा के लिए ‘नुकसानदेह’ गतिविधियों में शामिल रहने के लिए 90 दिन तक घर में नजरबंद रखा गया.

Hafiz Muhammad Saeed, chief of the Islamic charity organization Jamaat-ud-Dawa (JuD), sits during a rally against India and in support of Kashmir, in Karachi,

पाकिस्तान ने हाफिज सईद पर देश छोड़कर बाहर जाने पर बैन लगा दिया है

मुशर्रफ ने कहा कि भारत इनके खिलाफ है क्योंकि इनके समर्थक भारतीय सेना से लड़ने के लिए अपनी मर्जी से कश्मीर जाते हैं.

रिपोर्ट में कहा गया है कि मुशर्रफ ने यह भी स्वीकार किया कि उन्हें लंदन और दुबई में अपार्टमेंट खरीदने के लिए 2009 में सउदी अरब के शाह अब्दुल्ला बिन अब्दुल अजीज अल सौद से लाखों अमेरिकी डॉलर मिले थे.

बहरहाल, मुशर्रफ ने इसे ‘निजी मामला’ बताते हुये आगे जानकारियों का खुलासा नहीं किया. उन्होंने साथ ही कहा कि पाकिस्तान का पंजाब प्रांत आतंकवाद का गढ़ बन गया है.

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi