S M L

भारत है शांति की राह में 'रोड़ा': पाकिस्तान के राष्ट्रपति

राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने जम्मू-कश्मीर मसले को भारत-पाकिस्तान विभाजन का 'अधूरा एजेंडा' बताया

IANS | Published On: Jun 01, 2017 09:41 PM IST | Updated On: Jun 01, 2017 09:41 PM IST

0
भारत है शांति की राह में 'रोड़ा': पाकिस्तान के राष्ट्रपति

पाकिस्तान के राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने भारत को दक्षिण एशिया में शांति की राह में 'रोड़ा' करार दिया है. गुरुवार को नेशनल असेंबली को संबोधित करते हुए ममनून हुसैन ने जम्मू-कश्मीर मसले को भारत-पाकिस्तान विभाजन का 'अधूरा एजेंडा' बताया.

उन्होंने भारत पर पाकिस्तान द्वारा किए जा रहे 'शांति प्रयासों' पर प्रतिक्रिया न देने का आरोप भी लगाया.

कश्मीर को उपमहाद्वीप के बंटवारे का ‘अधूरा’ एजेंडा बताते हुए राष्ट्रपति हुसैन ने कहा, ‘भारत क्षेत्र में टिकाऊ शांति के लिए बड़ी बाधा बन गया है.’ उन्होंने कहा, ‘पाकिस्तान के शांति प्रयासों पर सकारात्मक जवाब की बजाए भारत ने कुलभूषण जाधव, आतंकवादियों और अन्य जासूसों को भेजा.’

India_pakistan

पाकिस्तान के अखबार ‘डॉन’ के मुताबिक, देश की संसद के संयुक्त सत्र को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति ने कश्मीर मुद्दे और पाकिस्तान और भारत के बीच कड़वे द्विपक्षीय संबंधों को रेखांकित किया.

कश्मीर की मौजूदा स्थिति और कुलभूषण जाधव मामले सहित अलग-अलग मुद्दों पर भारत और पाकिस्तान के बीच संबंध तनावपूर्ण है.

पाकिस्तान की संसद के संयुक्त सत्र में अपने सालाना अभिभाषण के दौरान राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने यह बातें कही. अपने भाषण के दौरान राष्ट्रपति हुसैन को विपक्ष का विरोध झेलना पड़ा. विपक्षी सांसदों ने इस दौरान ‘गो नवाज गो’ जैसे सरकार विरोधी नारे लगाए. बाद में विपक्ष ने सदन से वाकआउट भी किया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi