S M L

उज्मा मामले की सुनवाई के दौरान पाक कोर्ट ने किया भारतीय राजनयिक का मोबाइल जब्त

पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक अदालत में सुनवाई के दौरान पीयूष सिंह जज की फोटो खींचने की कोशिश कर रहे थे

FP Staff | Published On: May 12, 2017 07:15 PM IST | Updated On: May 12, 2017 07:17 PM IST

उज्मा मामले की सुनवाई के दौरान पाक कोर्ट ने किया भारतीय राजनयिक का मोबाइल जब्त

भारतीय महिला उज्मा के मुकदमे की सुनवाई के दौरान भारतीय राजनयिक का मोबाइल फोन जब्त कर लिया गया.

यह घटना शुक्रवार को इस्लामाबाद हाई कोर्ट में घटी. पाकिस्तान में इंडियन हाई कमीशनर के फर्स्ट सेक्रेटरी पीयूष सिंह भारतीय महिला उज्मा के मामले में हाई कोर्ट में याचिका दाखिल करने गए थे.

पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक अदालत में सुनवाई के दौरान पीयूष सिंह जज की फोटो खींचने की कोशिश कर रहे थे. इसके बाद पाकिस्तानी अधिकारियों ने जज को इसकी जानकारी दी.

हाई कोर्ट के जज ने सिंह का मोबाइल फोन जब्त करने का आदेश दिया. कोर्ट ने कहा कि जज की तस्वीर लेना अदालत की मर्यादा का उल्लंघन है.

पाकिस्तानी मीडिया की खबरों के मुताबिक भारतीय राजनयिक द्वारा लिखित माफी के बाद उनका मोबाइल फोन उन्हें लौटाया गया.

क्या है मामला?

कुछ दिन पहले भारतीय नागरिक उज्मा पाकिस्तान स्थित इंडियन हाई कमीशन में मदद मांगने गई और यह आरोप लगाया कि एक पाकिस्तानी नागरिक ताहिर ने उससे बंदूक की नोक पर जबरन शादी की है.

इंडियन हाई कमीशन की मदद से उज्मा ने इस्लामाबाद के एक कोर्ट में अपने पति ताहिर अली के खिलाफ एक याचिका भी दायर किया था. उसने ताहिर पर प्रताड़ित करने और धमकाने का भी आरोप लगाया है.

उज्मा ने अपना बयान मजिस्ट्रेट के सामने दर्ज भी कराया है. उज्मा ने यह भी आरोप लगाया है कि उसके इमीग्रेशन संबंधी सारे दस्तावेज छीन लिए गए हैं. जिसकी वजह से वह भारत नहीं लौट पा रही है.

इस्लामाबाद हाई कोर्ट में भारत के राजनयिक पीयूष सिंह ने उज्मा की ओर से याचिका दायर कर पाकिस्तान सरकार से डुप्लीकेट इमीग्रेशन दस्तावेज जारी करने की मांग की है. साथ ही अदालत से उज्मा को सुरक्षा देने की भी मांग की गई है.

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi