S M L

ISI के सीक्रेट मिशन पर था कुलभूषण जाधव का किडनैपर हबीब ज़हीर

आईएसआई के मिशन पर निकला हबीब ज़हीर पिछले हफ्ते नेपाल के लुंबिनी से अचानक लापता हो गया था

FP Staff | Published On: Apr 13, 2017 12:02 AM IST | Updated On: Apr 13, 2017 12:04 AM IST

ISI के सीक्रेट मिशन पर था कुलभूषण जाधव का किडनैपर हबीब ज़हीर

पिछले हफ्ते नेपाल से लापता होने वाला पाकिस्तानी फौज का अफसर हबीब ज़हीर आईएसआई के एक खास खुफिया मिशन पर था. खुफिया एजेंसियों से जुड़े एक हाईलेवल सोर्स ने सीएनएन-न्यूज़ 18 से बातचीत में ये अहम खुलासा किया है.

रिटायर्ड लेफ्टिनेंट कर्नल मोहम्मद हबीब ज़हीर के बारे में कहा जा रहा है कि- वो भारत-नेपाल सीमा पर स्थित लुंबिनी जा रहे थे, यहां से उन्होंने लाहौर में रहने वाले अपने घरवालों को फोन किया था.

हबीब ज़हीर के घरवालों ने आरोप लगाया कि उनका भारतीय खुफिया एजेंसियों ने धोखे से अपहरण कर लिया है. भारत ने आरोपों से इनकार करते हुए कहा कि ज़हीर के लापता होने से उसका कोई लेना-देना नहीं है.

Kuldeep Jadhav

भारत ने कुलभूषण जाधव पर पाकिस्तान के आर्मी कोर्ट के सुनाए फांसी की सजा पर सख्त रूख अपनाया है (फोटो: पीटीआई)

ISI से मिला था 'नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट'

भारतीय खुफिया एजेंसियों का मानना है कि जहीर को पाकिस्तान से बाहर जाने के लिए आईएसआई ने नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट दिया था. उसे ये एनओसी 31 मार्च, 2017 को लेफ्टिनेंट कर्नल आतिफ अनवर ने जारी किया था.

कर्नल जहीर आईएसआई के काफी महत्वपूर्ण मिशन पर नेपाल गए थे. वो वहां दो से तीन हफ्ते तक रहने वाले थे. उन्होंने बताया कि, जहीर से संपर्क टूटने के बाद आईएसआई ने उससे अपना नाता तोड़ लिया.

पहले, ऐसी खबरें आई थी कि भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को ईरान के चमन से अगवा करने पाकिस्तान लाने वाली आईएसआई की टीम में जहीर भी शामिल थे.

मंगलवार को पाकिस्तान की आर्मी कोर्ट ने कुलभूषण जाधव को बलूचिस्तान में तबाही मचाने और जासूस ठहराकर उसे मौत की सजा सुना दी थी.

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi